UP Board Exams 2023 शुरू, नकल कराने वालों के खिलाफ लगेगा NSA

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू हो चुकी है। ताजा जानकारी के मुताबिक यूपी बोर्ड की परीक्षा 16 फरवरी 2023 से 3 मार्च 2023 तक चलने वाली है। इस परीक्षा को सफलतापूर्वक आयोजित करने के लिए जिला के सभी उच्च अधिकारियों को कड़ी निगरानी रखने का निर्देश दिया गया है।

यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों को पहले दिन हिंदी विषय की परीक्षा देनी है। यूपी बोर्ड की परीक्षा देने वाला विद्यार्थी उत्तर प्रदेश बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट से किसी भी तरह के दस्तावेज को ऑनलाइन डाउनलोड कर सकता है।

डिजिटलाइजेशन को ध्यान में रखते हुए सभी विद्यार्थियों को ऑनलाइन दस्तावेज दिया गया है। ऑनलाइन दस्तावेज मुहैया करवाने के कारण विद्यार्थी कभी भी अपने दस्तावेज को पुनः प्राप्त कर सकता है।

सभी विद्यार्थियों को बोर्ड परीक्षा के लिए उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ की तरफ से शुभकामनाएं दी गई है। अगर आप यूपी बोर्ड परीक्षा से जुड़े लाइव अपडेट को प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे लेख के साथ अंत तक बने रहे।

UP Board Exams 2023

जैसा कि हम सब जानते हैं उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा को 16 फरवरी 2023 से 3 मार्च 2023 तक आयोजित किया जा रहा है।

विद्यार्थी को एडमिट कार्ड लेकर निर्देशित समय पर परीक्षा सेंटर पहुंचना है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरफ से हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी गई है।

इसके साथ ही उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के तरफ से कड़े निर्देश आए हैं कि बच्चों को परीक्षा में नकल करने ना दिया जाए और पेपर लीक या चीटिंग जैसी समस्या के प्रति सख्त कार्रवाई की जाए।

आपको बता दें कि इस साल परीक्षा सेंटर पर सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है और कुछ कड़े निर्देश दिए गए हैं जिनका पालन करते हुए बच्चों को परीक्षा देना है। इस परीक्षा में हर विद्यार्थी को चीटिंग करने से रोका जाएगा और इस तरह के असामाजिक तत्वों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

यूपी बोर्ड के तरफ से परीक्षा के लिए निर्देश

जितने विद्यार्थी इस साल यूपी बोर्ड की परीक्षा देने जा रहे हैं उन्हें उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की तरफ से कड़े निर्देश दिए गए हैं जिन्हें नीचे सूचीबद्ध किया गया है –

  • यूपी बोर्ड के तरफ से यह निर्देश दिया गया है कि किसी भी विद्यार्थी को जूता पहन कर परीक्षा देने नहीं आना है।
  • हर विद्यार्थी को एडमिट कार्ड के साथ अपने परीक्षा सेंटर पर आना है।
  • विद्यार्थी एडमिट कार्ड के अलावा कुछ भी परीक्षा सेंटर पर लेकर नहीं आ सकता है।
  • अगर कोई विद्यार्थी नकल करते पकडाता है तो उसे 1 साल के लिए निलंबित कर दिया जाएगा।
  • परीक्षा सेंटर पर चीटिंग या पेपर लीक जैसी वारदात ना हो इसके लिए सरकार कड़े निर्देश ले रही है।
  • हर विद्यार्थी को बोर्ड रोल नंबर के मुताबिक अलग-अलग परीक्षा सेंटर दिया गया है। 

अगर कोई विद्यार्थी नकल करते पकड़ आता है तो क्या किया जाएगा

पिछले साल यूपी बोर्ड की परीक्षा में बहुत सारे बच्चे चीटिंग कर रहे थे और पेपर लिक की समस्या भी सामने आई थी।

पिछले साल के इस वारदात को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा इस साल बहुत कड़े निर्देश दिए गए हैं और विद्यार्थियों को नकल करने से बचाने के लिए उन पर सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है।

शिक्षा परिषद के द्वारा यह घोषित किया गया है कि किसी भी विद्यार्थी को एडमिट कार्ड के अलावा कोई भी चीज लेकर परीक्षा सेंटर पर नहीं आना है।

विद्यार्थी अगर परीक्षा सेंटर पर नकल करते पकड़ा जाता है तो उसका पेपर रद्द कर दिया जाएगा और जिस पेपर में वह चीटिंग करेगा उस पेपर में उसे फेल कर दिया जाएगा।

इसके अलावा अगर पेपर लीक या आंसर के साथ वह परीक्षा परिषद में पकड़ाया है तो उसे 1 साल के लिए निलंबित भी किया जा सकता है।

इस वजह से हर विद्यार्थी को शिक्षा परिषद के द्वारा यह सूचित किया गया है कि उसे अच्छे तरीके से परीक्षा देनी है। हर विद्यार्थी को चीटिंग से दूर रहने की सलाह दी जा रही है।

निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने आपको उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की बोर्ड परीक्षा आयोजन के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी है।

हमने सरल शब्दों में यह समझाने का प्रयास किया है कि यूपी बोर्ड की परीक्षा का आयोजन इस साल कैसे किया जा रहा है और विद्यार्थियों को कौन से नियमों का खास रुप से पालन करना है।

अगर हमारे द्वारा साझा जानकारियों को पढ़ने के बाद आप यूपी बोर्ड की परीक्षा के बारे में अच्छे से समझ पाए हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ भी साझा करें।

x