UP Board Exam 2023: बोर्ड परीक्षा देने से एक पहले इन बातों का रखें ध्यान

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा 16 फरवरी से 3 मार्च तक आयोजित की गई है। उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षा सफलतापूर्वक आयोजित की गई है।

मगर बोर्ड परीक्षा में बैठने से पहले विद्यार्थियों को कुछ आवश्यक निर्देशों के बारे में मालूम होना चाहिए जिसे शिक्षा परिषद के द्वारा निर्धारित किया गया है।

आपको बता दें कि यूपी बोर्ड में हर साल बड़े पैमाने पर चीटिंग और पेपर लिक की समस्या होती थी जिसे कम करने के लिए शिक्षा परिषद ने अलग-अलग नियमों को लागू किया है।

वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश के लगभग सभी जिलों के वरिष्ठ अधिकारियों को सभी परीक्षा स्थलों पर कड़ी निगरानी रखने को कहा गया है।

मगर विद्यार्थियों के लिए भी शिक्षा परिषद की तरफ से निर्देश साझा किए गए हैं जिनके बारे में आज के लेख में बताया गया है।

UP Board Exam 2023

जैसा की आप सबको पता है उत्तर प्रदेश बोर्ड की परीक्षा चल रही है। इंटरमीडिएट और हाईस्कूल की बोर्ड परीक्षा विद्यार्थियों के लिए बहुत ही आवश्यक होती है क्योंकि यह उनके भविष्य को बहुत हद तक निर्धारित करती है।

इसी वजह से विद्यार्थी को बोर्ड परीक्षा के प्रति संजीदा रहना होता है। मगर बीते कई सालों से यूपी बोर्ड के परीक्षा में चीटिंग की हरकत को बढ़ते हुए देखा जा रहा है।

इसे कम करने के लिए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा 500 विशेष शिक्षकों की टीम तैयार की गई है जो अलग-अलग परीक्षा स्थलों पर छापामारी करने का कार्य कर रहे हैं।

इन सबके अलावा स्ट्रांग रूम और हाई सीसीटीवी कैमरा के जरिए सभी परीक्षा स्थलों को सुरक्षित बनाया गया है। विद्यार्थियों पर भी शिक्षकों के द्वारा कड़ी निगरानी रखी जा रही है।

जिला के सभी वरिष्ठ अधिकारियों को परीक्षा स्थलों पर छापामारी करने और बोर्ड परीक्षा के पेपर लीक वारदात पर कड़ी निगरानी रखने को कहा गया है।

हाई स्कूल इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा 16 फरवरी से शुरू हुई है और दोनों कक्षाओं के विद्यार्थियों को पहले दिन हिंदी विषय की परीक्षा देनी थी।

अधिकांश विद्यार्थियों की परीक्षा बहुत अच्छी गई है वहीं दूसरी तरफ पहले ही दिन चार लाख से अधिक बच्चे अनुपस्थित रहे है।

हालांकि यूपी बोर्ड की परीक्षा में लगातार अनुपस्थित रहने वाले बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है इस पर अब तक किसी भी तरह की जानकारी को स्पष्ट नहीं किया गया है।

यूपी बोर्ड की परीक्षा देने से पहले रखें इन बातों का ध्यान 

जैसा कि हमने आपको बताया हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा और विद्यार्थी के लिए बहुत ही आवश्यक होती है।

इसी परीक्षा के आधार पर विद्यार्थी अपने भविष्य का एक संतुलित निर्माण कर सकता है। इस वजह से विद्यार्थी को बोर्ड परीक्षा देने से पहले कुछ आवश्यक बातों का ध्यान रखना चाहिए जिसे यूपी बोर्ड के द्वारा साझा किया गया है –  

  • उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने यह साझा किया है कि किसी भी विद्यार्थी को एडमिट कार्ड और पेन के अलावा कुछ भी अपने साथ लेकर परीक्षा स्थल पर नहीं जाना है।
  • किसी भी विद्यार्थी को जूता पहनकर परीक्षा स्थल पर नहीं जाना है।
  • विद्यार्थी को मोबाइल घड़ी या किसी भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को परीक्षा स्थल पर लेकर नहीं जाना है।
  • विद्यार्थी के एडमिट कार्ड पर परीक्षा सेंटर और रोल नंबर की जानकारी लिखी गई है जिसके अनुसार उसे निर्धारित परीक्षा सेंटर पर जाना है।
  • हर विद्यार्थी को परीक्षा शुरू होने से 15 मिनट पहले परीक्षा सेंटर पर पहुंचना है।
  • परीक्षा सेंटर का दरवाजा बंद होने के बाद विद्यार्थी को अंदर जाने के लिए परीक्षा सेंटर के शिक्षक से बात करनी होगी।

 निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने आपको सरल शब्दों में यह समझाने का प्रयास किया है कि यूपी बोर्ड की परीक्षा कब आयोजित की गई है और इसके लिए विद्यार्थियों को कौन से निर्देशों का पालन करना है। इस लेख में हमने आपको यूपी बोर्ड की परीक्षा से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारियों को सरल शब्दों में समझाने का प्रयास किया है।

अगर हमारे द्वारा साझा की गई जानकारियों को पढ़ने के बाद आप यूपी बोर्ड की परीक्षा के बारे में अच्छे से समझ पाए हैं, तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथ ही अपने सुझाव और विचार कमेंट में बताना ना भूलें।

x