UPTET Exam Update: आवेदन होंगे जल्द शुरू, इस दिन होगी परीक्षा जल्दी से चेक करें

UPTET Exam Update: आवेदन होंगे जल्द शुरू, इस दिन होगी परीक्षा जल्दी से चेक करें

प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में कोई ना कोई लक्ष्य अवश्य ही होता है। उस लक्ष्य को पूर्ण करने हेतु लोग अथक प्रयत्न करते हैं। किंतु कुछ लोगों के सपने ऐसे होते हैं, जो कि काफी सारे लोगों से मेल खाते हैं।

इन्हीं सपनों में से एक है शिक्षक बनने का सपना। यदि आपका भी स्वप्न एक शिक्षक बनने का है, जो कि आने वाली पीढ़ी को योग्य बनाने का जज्बा रखता है। तो फिर आपको हमारे इस पोस्ट को अवश्य ही आखिर तक पढ़ना चाहिए।

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार से अपने इस सपने को पूर्ण करने हेतु अग्रसर हो सकते हैं?

शिक्षक बनने का स्वप्न रखने वाले प्रत्येक उम्मीदवार ने कभी ना कभी UPTET की परीक्षा का नाम अवश्य ही सुना होगा।

आज के इस पोस्ट में हम सभी लोग इसी विषय पर चर्चा करने वाले हैं। जिस के विषय में जान लेना उस प्रत्येक व्यक्ति के लिए आवश्यक है, जो शिक्षक बनने का सपना देखता है।

UPTET Exam क्या है?

अब हम आपको एक सर्वाधिक आवश्यक प्रश्न का उत्तर प्रदान करना चाहेंगे कि आखिर UPTET परीक्षा है क्या?

तो हम आपको बता दें कि यूपीटेट अर्थात Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test उत्तर प्रदेश में आयोजित कराई जाने वाली एक परीक्षा है।

इस परीक्षा में वे सभी उम्मीदवार हिस्सा लेते हैं, जिनका स्वप्न एक शिक्षक बनने का है। इस परीक्षा को पास करने के पश्चात उम्मीदवार सरकारी शिक्षक बन सकते है।

किंतु एक अत्यंत आवश्यक बात का भी आपको ख्याल रखना होगा। इस परीक्षा में बैठने के लिए कुछ पात्रताओं का भी निर्धारण किया गया है।

जिसके अनुरूप ही इस परीक्षा हेतु अभ्यर्थियों का चयन किया जाएगा। वैसे तो इस परीक्षा के लिए हर साल लाखों छात्र आवेदन करते हैं।

इस परीक्षा में 2 पेपर होते हैं

यदि आप उत्तर प्रदेश में आयोजित की जाने वाली UPTET परीक्षा देने की योजना में है, तो फिर आवश्यक है कि आप को इस विषय में भी पता हो कि इस परीक्षा में कुल 2 पेपर पूछे जाते हैं।

पहला पेपर उन उम्मीदवारों को देना होता है, जो कक्षा 1 से लेकर की कक्षा 5 तक के छात्रों को पढ़ाने की इच्छा रखते हैं।

दूसरा पेपर उन उम्मीदवारों के लिए होता है, जो कक्षा 6 से लेकर कक्षा 8 तक के छात्रों को पढ़ाने की इच्छा रखते हैं।

यदि आप कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के छात्रों के साथ-साथ कक्षा 6 से कक्षा 8 तक के छात्रों को पढ़ाने की इच्छा रखते हैं। तो फिर आपको पेपर 1 तथा पेपर 2 दोनों ही देना होगा।

इस परीक्षा के लिए Eligibility Criteria क्या है?

उत्तर प्रदेश टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट की परीक्षा के लिए सर्वाधिक आवश्यक तो यह है कि आप सर्वप्रथम आयु सीमा पर ध्यान केंद्रित करें।

इस परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष की होनी चाहिए और अधिकतम आयु का निर्धारण अभी नहीं किया गया है।

शैक्षणिक योग्यता के विषय में भी आप को ध्यान देना है। इसके विषय में संक्षिप्त उल्लेख हमने नीचे में प्रदान किया है।

प्राथमिक शिक्षक (कक्षा 1 से लेकर के कक्षा 5 तक)

शिक्षक बनने हेतु उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से कम से कम 50% अंक के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करनी है तथा एनसीटीई / भारतीय पुनर्वास परिषद (आरसीआई) से 2 वर्ष का डिप्लोमा (डी.एड)।

अथवा

स्नातक की डिग्री तथा 2 वर्ष बीटीसी, CT (नर्सरी) / नर्सरी टीचर ट्रेनिंग (एनटीटी)।

अथवा

विशेष बीटीसी प्रशिक्षण स्नातक की डिग्री या फिर उत्तर प्रदेश में 2 वर्ष तथा बीटीसी उर्दू विशेष प्रशिक्षण के साथ स्नातक की डिग्री होनी आवश्यक है।

अन्यथा इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए आप योग्य नहीं समझे जाएंगे।

उच्च प्राथमिक शिक्षक (कक्षा 6 से लेकर कक्षा 8 तक)

उच्च प्राथमिक शिक्षक बनने के लिए उम्मीदवार के पास नेशनल काउंसिल ऑफ टीचर एजुकेशन (एनसीटीई) से संस्था से स्नातक की डिग्री तथा बीटीसी

अथवा

भारतीय पुनर्वास परिषद (RCI) से कम से कम 50% अंक के साथ स्नातक की डिग्री तथा B.Ed/B.Ed विशेष शिक्षा या

कम से कम 50% अंक के साथ इंटरमीडिएट एवं एनसीटीई/यूजीसी से मान्यता प्राप्त संस्थान से 4 वर्षीय बीए/बीएससीईडी/बीएएड

अथवा

न्यूनतम 50% अंक के साथ इंटरमीडिएट एवं प्राथमिक शिक्षा में 4 वर्षीय डिग्री (बी.एल.एड) 

अथवा

न्यूनतम पर 40% आपके साथ स्नातक डिग्री एवं बीएड डिग्री होनी बहुत ज्यादा आवश्यक है।

या

न्यूनतम 45% अंकों के साथ स्नातक डिग्री और बीएड डिग्री होनी बेहद ही जरुरी है। 

UPTET परीक्षा की बात करें तो, यूपी बेसिक एजुकेशन बोर्ड (UPBEB), प्राइमरी टीचर और अपर प्राइमरी टीचर एग्जाम को आयोजित कराती है।

इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आपको इससे संबंधित अन्य आवश्यक जानकारीयां प्राप्त हो जाएगी।

एक आवश्यक अपडेट

उत्तर प्रदेश में आयोजित कराई जाने वाली उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा की वैधता और राज्य के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा बढ़ा करके आजीवन कर दिया गया है।

ऐसे में अब उम्मीदवार एक बार UPTET परीक्षा पास कर लेंगे। उन्हें कुछ वर्षों के पश्चात पुनः से परीक्षा में सम्मिलित होने की आवश्यकता नहीं है। प्रारंभ में UPTET की वैलिडिटी केवल 5 वर्ष की ही थी।

5 वर्ष पूर्ण होने के पश्चात उम्मीदवारों को पुनः से इस परीक्षा में बैठना पड़ता था। किंतु अब ऐसा नहीं होगा। हालांकि उम्मीदवार अपनी अंकों को बढ़ाने हेतु जितनी बार चाहे उतनी बार इस परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं।

किंतु एक विशेष बात का स्मरण रहे कि UPTET परीक्षा एक राज्यस्तरीय कंपटीशन परीक्षा है।

इसे उत्तर प्रदेश राज्य में आयोजित करवाया जाता है। इसके माध्यम से उत्तर प्रदेश राज्य के सरकारी विद्यालयों में सरकारी शिक्षकों की नियुक्ति की जाती है।

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हमने आप सभी लोगों के समक्ष UPTET परीक्षा से संबंधित काफी सारी आवश्यक जानकारियां उल्लेखित की है।

हमने इस परीक्षा से संबंधित आवश्यक शैक्षणिक योग्यता के साथ-साथ यह किस राज्य में आयोजित कराई जाती है? इस विषय में भी जानकारी प्रदान कि हैं।

x