Ration Card: अगर आप भी लेते हैं फ्री राशन? तो ये खबर है खास, जानें सरकार ने क्या किया बदलाव

Ration Card: अगर आप भी लेते हैं फ्री राशन? तो ये खबर है खास, जानें सरकार ने क्या किया बदलाव

जब भी राशन कार्ड का नाम लिया जाता है, तो लोगों के मन मस्तिष्क में सर्वप्रथम सरकार के द्वारा लाई गई योजना, राशन कार्ड योजना की छवि बन जाती है और बने भी क्यों ना यह योजना इतनी अधिक लोकप्रिय लाभकारी तथा प्रसिद्ध जो है।

किंतु आज के इस पोस्ट में हम आप सभी लोगों के समक्ष राशन कार्ड योजना की प्रसिद्धि का बखान नहीं करने वाले हैं क्योंकि हम आज आपको राशन कार्ड योजना से संबंधित कुछ जरूरी जानकारियां प्रदान करने वाले हैं।

राशन कार्ड योजना की शुरुआत सरकार के द्वारा कई वर्ष पूर्व की गई थी। लेकिन वर्तमान में भी इस योजना के तहत लोगों को बहुत ही अधिक लाभ की प्राप्ति हो रही है।

राशन कार्ड योजना की आवश्यकता क्यों?

सरकार के द्वारा किसी लाभकारी योजना की शुरुआत की जाती है, तो उसके पीछे कोई ना कोई मुख्य उद्देश्य रहता है।

जिसकी पूर्ति हेतु ही सरकार किसी योजना की शुरुआत करती है। जैसे कि छात्रवृत्ति की योजना की शुरुआत सरकार मेधावी छात्र-छात्राओं का आर्थिक सहायता देने हेतु कि गई है।

यदि बात की जाए राशन कार्ड योजना की आवश्यकता कि तो हमारे देश में भले ही अपनी सफलता के दम पर समस्त विश्व में अपनी एक अलग पहचान बना रखी है।

लेकिन सिक्के के अगले पहलू पर नजर डाली जाए, तो फिर हम पाएंगे कि हमारे देश के कुछ ऐसे अभागे हैं जिनके पास दो वक्त की रोटी खाने इतना भी धन उपलब्ध नहीं होता है।

ऐसे लोगों को भूखा ना रहना पड़े, इस वजह से ही सरकार ने राशन कार्ड योजना की शुरुआत की है।

जब से इस योजना की शुरुआत की गई है, तब से अकाल की स्थिति पर काफी हद तक काबू पाया जा चुका है। 

इस योजना में दी जाने वाली सामग्रियां

वैसे तो राशन कार्ड योजना के तहत लाभार्थियों को मुख्य रूप से खाद्य सामग्री आदि उपलब्ध करवाई जाती है। जैसे कि चावल, गेहूं, चना, दाल, चीनी, खाने का तेल इत्यादि।

लेकिन राशन कार्ड योजना के तहत उन क्षेत्रों में जहां पर बिजली की नियमित आपूर्ति नहीं हो पाती है, ऐसे में राशन कार्ड धारकों को केरोसिन तेल भी उपलब्ध करवाया जाता है।

इसके अतिरिक्त ग्रामीण क्षेत्रों में सर्दियों के मौसम में अथवा किसी विशेष समयावधि में लाभार्थियों के मध्य में कंबल तथा मच्छरदानी का वितरण भी किया जाता है। लेकिन राशन कार्ड योजना का लाभ केवल यही तक सीमित नहीं है।

क्या नाम जुड़वाना संभव है?

राशन कार्ड योजना के तहत अक्सर लाभार्थियों का नाम जुड़वाया जाता है, क्योंकि परिवार में सदस्यों का आगमन तथा निधन बना ही रहता है। जिसके परिणाम स्वरूप लाभार्थी सूची में भी परिवर्तन आता रहता है।

राशन कार्ड योजना के तहत जिन भी लाभार्थियों को मुफ्त में अथवा कम मूल्य में राशन की प्राप्ति होती है उनका नाम पूर्व ही राशन कार्ड लाभार्थी सूची में होता है, उन्हीं के नाम पर सरकार अन्न का भुगतान करती है।

ऐसे में यदि आपके परिवार में किसी सदस्य का नाम लाभार्थी सूची में जुड़वाने हेतु छूट चुका है। तो फिर आपको चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है।

आपको कुछ प्रक्रिया को सावधानीपूर्वक करके अपने इस कार्य में सफलता प्राप्त करनी हैं।

किन-किन लोगों का नाम जोड़ा जाता है?

वैसे तो राशन कार्ड योजना के तहत जो लाभार्थी सूची जारी की जाती है। उसमें परिवार के प्रत्येक सदस्य का नाम जुड़वाया जाता है।

किंतु सदैव तथा मुख्यता इस लाभार्थी सूची में परिवार के शिशु, जो अभिभावकों के द्वारा जन्म दिए जाते हैं या फिर गोद लिए जाते हैं का नाम जुड़वाया जाता हैं।

तथा नवविवाहिता का भी नाम राशनकार्ड लाभार्थी सूची में जुड़वया जाता है। राशनकार्ड लाभार्थी सूची में प्रत्येक सदस्य के नाम जुड़वाने हेतु कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है।

इन सभी आवश्यक दस्तावेजों के विषय में भी जानकारी हमने नीचे में प्रदान कर रखी है। जिसके विषय में जान लेना आपके लिए भी आवश्यक है।

किंतु यदि आप चाहे तो  ऑनलाइन माध्यम से भी राशनकार्ड लाभार्थी सूची में अपने परिवार के सदस्यों का नाम जुड़वा सकते हैं।

इस प्रक्रिया को प्रयोग में लाएं

सर्वप्रथम तो आपको अपने राज्य की आपूर्ति खाद्य एवं रसद विभाग के आधिकारिक वेबसाइट में विजिट करना होगा।

आपको बता दें कि प्रत्येक राज्य के खाद्य एवं रसद विभाग की वेबसाइट अलग-अलग है।

इसके पश्चात स्क्रीन पर वेबसाइट फॉर होम पेज खुल करके आ जाएगा। यदि आप पहले से ही इस पोर्टल में विजिट कर चुके हैं, तो फिर आपने स्वयं का पंजीकरण भी किया होगा। जिसके परिणाम स्वरुप आपके पास लॉगिन आईडी तथा पासवर्ड भी होंगी।

लॉगइन आईडी तथा पासवर्ड के प्रयोग से ही आपको इस वेबसाइट में अपने कार्य को आगे बढ़ाना है।

किंतु यदि आप इस वेबसाइट में नए है, तो फिर आपको अपना लॉगइन आईडी तथा पासवर्ड जनरेट करना होगा।

तत्पश्चात आपको परिवार के सदस्यों के नाम को जुड़वाने का एक विकल्प प्राप्त होगा, जिसमें आपको क्लिक कर लेना है।

यदि आपको अपने परिवार के नए सदस्यों का नाम इस प्रक्रिया के माध्यम से जुड़ना चाहते हैं, तो फिर आपको निम्न दस्तावेजों की भी आवश्यकता होगी क्योंकि यह काफी ज्यादा आवश्यक दस्तावेज है।

इंपॉर्टेंट डॉक्यूमेंट 

यदि आप अपने परिवार के सदस्य का नाम इस योजना के तहत जुड़वाना चाहते हैं, तो फिर आपको निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

बच्चे का नाम जुड़वाने हेतु-

  1. ओरिजनल राशन कार्ड
  2. बच्चे के जन्म प्रमाण पत्र
  3. माता-पिता का आईडी प्रूफ

नवविवाहिता का नाम जुड़वाने हेतु-

  1. शादी का प्रमाण पत्र (मैरिज सर्टिफिकेट )
  2. पति का मूल राशन कार्ड
  3. माता-पिता के राशन कार्ड से नाम छूटने का प्रमाण पत्र
  4. आवेदक का आधार कार्ड

अन्य तरीके भी है मौजूद

यदि आप इस माध्यम से अर्थात ऑनलाइन माध्यम से परिवार के सदस्य का नाम जुड़वाने हेतु असक्षम है, तो चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है। आप ऑफलाइन माध्यम से भी यह कार्य कर सकते हैं।

आपको अपने राज्य के खाद्य एवं रसद विभाग में जाना होगा। वहां पर आपको सम्बंधित दस्तावेज को सबमिट करना होगा। आपसे कुछ फि ली जाएगी। आपको उसका भुगतान करना होगा।

इस प्रकार से भी आप ऑफलाइन माध्यम से राशन कार्ड लाभार्थी सूची में अपने परिवार के सदस्यों का नाम जुड़वा सकते हैं। लेकिन अगर आप इतना भी नहीं करना चाहते हैं।

तो आप अपने राशन कोटा धारक को संबंधित दस्तावेज सौंप करके लाभार्थी सूची में नाम जुड़वाने हेतु कह सकते हैं। यह प्रक्रिया काफी ज्यादा सरल है। आपको  प्रत्येक व्यक्ति के लिए ₹100 देने होंगे।

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हमने आप सभी लोगों के समक्ष राशन कार्ड योजना से जुड़ी काफी सारी आवश्यक जानकारियां उल्लेखित की है। हमें आशा है कि हमारे द्वारा प्रदान की गई यह सभी जानकारियां आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगी।

x