7वां वेतन आयोग: सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, 3.68 गुना होगा मूल वेतन

7वां वेतन आयोग: सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, 3.68 गुना होगा मूल वेतन

केंद्रीय सरकारी कर्मचारी का महंगाई भत्ता सातवां वेतन आयोग के अंतर्गत बढ़ने वाला है। सरकार ने महंगाई भत्ता को बढ़ाने का ऐलान किया है जिससे सभी कर्मचारी में खुशी देखने को मिल रही है।

महंगाई भत्ता के बढ़ने से तनख्वाह कई गुना तक बढ़ जाती है। कुछ कर्मचारियों की तनख्वाह इस तरह दुगनी हो सकती है, पर किस कर्मचारी की तनख्वाह कितनी बढ़ेगी और किसे किस प्रकार का फायदा मिलेगा इसे जानने के लिए आज का लेख पढ़ना होगा।

हम आपको सरल शब्दों में यह समझाने का प्रयास कर रहे हैं कि मूल वेतन कितनी तेजी से बढ़ेगा और किस करमचारी को इसका कितना मुनाफा हो सकता है।

महंगाई भत्ता और मूल वेतन किस प्रकार एक दूसरे पर निर्भर करती है और सरकारी कर्मचारी को मिलने वाली तनख्वाह के बारे में समझाया गया है।

सातवां वेतन आयोग क्या है?

सरकारी कर्मचारियों के द्वारा एक सातवां वेतन आयोग गठित किया गया है जिसके जरिए सरकार सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह निर्धारित करती है।

हर 10 साल में एक नया वेतन आयोग गठित किया जाता है। वर्तमान समय में सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह सातवां वेतन आयोग के अंतर्गत गठित किया जाता है और यह वेतन आयोग 2016 में लागू किया गया था।

सातवां वेतन आयोग के अनुसार सरकारी कर्मचारियों को महंगाई से लड़ने के लिए साल में दो बार महंगाई भत्ता दिया जाएगा।

इसके अलावा मूल वेतन समय के अनुसार बढ़ाया जाता है वर्तमान समय में महंगाई भत्ता बढ़ते हुए जब 50% हो जाता है तो मूल वेतन बढ़ा दिया जाता है।

2026 में आठवां वेतन आयोग लागू किया जाएगा और उस समय सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह में भारी इजाफा देखने को मिलेगा जब तनख्वाह देने की एक नई प्रक्रिया को निर्धारित किया जाएगा।

सातवां वेतन आयोग में महंगाई भत्ता कितनी बढ़ने वाली है

सरकार ने सभी कर्मचारियों की तनख्वाह को बढ़ाने का ऐलान किया है जो महंगाई भत्ता के जरिए बढ़ेगा। केंद्रीय सरकारी कर्मचारियों को सरकार दो बार महंगाई भत्ता देती है।

एक बार जनवरी के महीने में और दूसरी बार जुलाई के महीने में। इसके अनुसार जुलाई के महीने में महंगाई भत्ता दिया जाएगा और कर्मचारियों को इसका फायदा हो सकता है।

सातवां वेतन आयोग के अंतर्गत सभी सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह 3% से 4% बढ़ती है। यह महंगाई भत्ता होता है जो मूल वेतन का 3% से 4% होता है।

केंद्रीय सरकारी कर्मचारियों के लिए आमतौर पर मूल वेतन का 4% पर राज्य सरकारी कर्मचारियों के लिए आमतौर पर मूल वेतन का 3% होता है।

कई बार सरकार इसे लागू करने में विलंब कर देती है मगर ऐसी परिस्थिति में जितना सरकार देर करती है वो सारा पैसा एक साथ मिलकर दिया जाता है।

किस कर्मचारी को कितनी तनख्वाह मिलेगी?

जिस प्रकार महंगाई भत्ता को बढ़ाने का ऐलान किया गया है अगर ऐसा होता है तो किस कर्मचारी को कितनी तनख्वाह मिलेगी इसे स्पष्ट रूप से बताना मुश्किल है।

ऐसा इस वजह से क्योंकि महंगाई भत्ता मूल वेतन का कुछ प्रतिशत होता है। मूल वेतन कर्मचारी के पद और कर्मचारी की नौकरी के समय से निर्धारित होता है।

अगर कोई कर्मचारी लंबे समय से काम कर रहा है तो उसका मूल वेतन अधिक होगा और अगर कोई कर्मचारी नया-नया नौकरी पकड़ा है तो उसका मूल वेतन कम होगा।

इसके अलावा कर्मचारी का पद अधिक होगा तो मूल वेतन भी अधिक होगा और निचले पद के कर्मचारियों का मूल वेतन कम होता है।

महंगाई भत्ता साल में दो बार बढ़ता है जिस वजह से एक साल में लगभग 8% महंगाई भत्ता बढ़ जाता है। हर साल कर्मचारी की मूल तनख्वाह का 8% महंगाई भत्ता बढ़ता जाता है।

इस तरह बढ़ते हुए जब महंगाई भत्ता 50% पहुंच जाता है तो उस रकम को उसके मूल वेतन में जोड़कर एक नया मूल वेतन बना दिया जाता है।

इस तरह जो कर्मचारी जितने लंबे समय से काम कर रहा है उसकी तनख्वाह में मूल वेतन उतना ही अधिक होता है और वह उतना अधिक तनख्वाह प्राप्त करता है।

महंगाई भत्ता भी इसी प्रकार बढ़ती रहती है जब महंगाई भत्ता 50% होती है तो मूल वेतन बढ़ जाता है और महंगाई भत्ता शून्य हो जाता है और उसके बाद फिर 6 महीने पर महंगाई भत्ता 4% से बनना शुरू होता है। 

तनख्वाह कितनी गुना बढ़ जाएगी?

जैसा कि हमने आपको बताया सरकारी कर्मचारी की तनख्वाह में इजाफा उसके पद और उसके नौकरी करने के समय से निर्धारित होता है।

इसी प्रकार अगर कोई कर्मचारी को नई नौकरी मिलती है तो उसके तनख्वाह में महंगाई भत्ता के बढ़ने से कोई खास असर देखने को नहीं मिलेगा।

मगर जब कोई कर्मचारी पुराना हो गया है तो उसकी तनख्वाह में आपको भारी इजाफा देखने को मिलेगा।

अगर किसी कर्मचारी का मूल वेतन पहले बहुत बार रिवाइज हो चुका है और उसके बाद इस बार उसका महंगाई भत्ता 40% से अधिक हो चुका है तो आपको उसकी तनख्वाह में भारी इजाफा देखने को मिलेगा।

ऐसे बहुत सारे सरकारी कर्मचारी हैं जिनकी तनख्वाह का 50% उन्हें महंगाई भत्ता मिलता है। इसके अलावा सरकार कुछ अन्य सुविधाएं भी देती है।

जिससे तनख्वाह में और भी इजाफा देखने को मिल रहा है। हालांकि किस कर्मचारी की तनख्वाह कितनी होगी इसे स्पष्ट शब्दों में कहना काफी मुश्किल है।

मगर महंगाई भत्ता से किस कर्मचारी को कितना मुनाफा होगा इसे और विस्तार से जानने के लिए हमारे वेबसाइट के साथ बने रहे।

निष्कर्ष

आज इसलिए हमने आपको बताया कि सातवां वेतन आयोग क्या है किस प्रकार सरकार तनख्वाह निर्धारित करती है और सातवां वेतन आयोग के अनुसार किस कर्मचारी को कितनी तनख्वाह मिलने वाली है।

अगर इन सभी जानकारियों से आपको लाभ मिला है तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करना ना भूलें।

x