Ration Card: इस तरह से करें चेक, कहीं आप का भी नाम तो नहीं कट गया है राशन कार्ड से नाम, रह सकते हैं लाभ से वंचित

हमारे देश की सरकार के द्वारा देश में रहने वाले प्रत्येक तबके के व्यक्ति के हित के लिए विविध स्तर में योजनाएं प्रारंभ की जाती रहती है। आज के इस पोस्ट में हम सभी लोग ऐसे ही एक योजना जिसे सभी लोग राशन कार्ड योजना के नाम से जानते हैं, पर विस्तारपूर्वक चर्चा करेंगे।

राशन कार्ड योजना की शुरुआत हमारे देश में काफी वर्ष पूर्व ही हो चुकी थी। किंतु वर्तमान में भी यह योजना क्रियाशील है और इस योजना के तहत देश के लाखों लोगों को लाभ की प्राप्ति होती आ रही है।

किंतु इस योजना के तहत जिन लोगों को अब तक लाभ की प्राप्ति होती आ रही है अब उनके प्राप्त होने वाले इन सुविधाओं पर संकट आ पड़ा है।

यदि आप जानना चाहते हैं कि संपूर्ण बात क्या है? तो हमारे इस पोस्ट के साथ आखिर तक जुड़े रहे।

क्या है यह योजना?

वैसे तो राशन कार्ड योजना की शुरुआत केंद्र सरकार के द्वारा की गई है। इस योजना के तहत हमारे देश के निम्न वर्गीय परिवारों के साथ साथ मध्यवर्गीय परिवारों को भी लाभ की प्राप्ति होती है।

वैसे तो इस योजना के तहत लाभार्थियों को बहुत ही कम मूल्यों में राशन की प्राप्ति हर महीने होती है।

किंतु कभी-कभी सरकार के द्वारा इस योजना के तहत मुफ्त में राशन भी वितरित किया जाता है।

केंद्र सरकार के द्वारा एक घोषणा की गई थी जिसके अनुसार राशन कार्ड योजना के तहत आने वाले प्रत्येक पात्र लाभार्थी को सरकार साल 2023 में मुफ्त में राशन वितरित करेगी।

जिसमें प्रत्येक व्यक्ति को 5kg तक का अनाज उपलब्ध करवाया जाएगा।

इस योजना के तहत कौन-कौन सी वस्तुएं मिलती है?

राशन कार्ड योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों को सरकार के द्वारा कुछ मूलभूत खाद्य सामग्रियों की आपूर्ति करवाई जाती है।

जिसमे मुख्य रुप से चावल, दाल, चना, गेहूं, चीनी, नमक, तेल इत्यादि सम्मिलित होते है।

काफी सारे ग्रामीण क्षेत्रों में तो लाभार्थियों को केरोसिन तेल के साथ-साथ कंबल तथा मच्छरदानी का भी वितरण किया जाता है।

राशन कार्ड योजना की सुविधाएं केवल यहीं तक सीमित नहीं है। इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों को सरकार के द्वारा लाई जाने वाली अन्य लाभकारी योजनाओं का भी लाभ सर्वप्रथम प्राप्त करने का अवसर उपलब्ध करवाया जाता है।

कितने प्रकार के राशन कार्ड होते हैं?

यदि बात की जाए राशन कार्ड योजना की तो इस योजना के तहत मुख्य रूप से तीन प्रकार के राशन कार्ड उपलब्ध करवाए जाते हैं .

इस योजना के तहत निम्न वर्गीय परिवारों के साथ-साथ मध्यवर्गीय परिवारों को भी सम्मिलित किया गया है।

जिससे कि इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों के मध्य में विभेद किया जा सके। इस वजह से राशन कार्ड योजना के तहत मुख्य रूप से तीन प्रकार के राशन कार्ड वितरित किए जाते हैं।

एपीएल राशन कार्ड-यदि बात की जाए एपीएल राशन कार्ड की तो इस योजना के तहत प्रदान किया जाने वाला यह राशन कार्ड उन लोगों को प्राप्त होता है, जो अपना जीवन यापन गरीबी रेखा से ऊपर करते हैं तथा इसके साथ ही साथ उनकी वार्षिक आय ₹10000 से अधिक की नहीं होती है।

इन लाभार्थियों को इस राशन कार्ड के माध्यम से हर महीने 15 किलो तक का अनाज प्राप्त करने का अवसर मिलता है।

बीपीएल राशन कार्ड – हमारे देश में बीपीएल राशन कार्ड उन लोगों को प्रदान किया जाता है, जो अपना जीवन यापन गरीबी रेखा के नीचे करते हैं और इसके साथ ही साथ उनकी वार्षिक आय ₹1000 से अधिक की नहीं होती है।

बीपीएल राशन कार्ड धारकों को सरकार 25 किलो तक का अनाज हर महीने उपलब्ध करवाती है।

अंत्योदय राशन कार्ड – हमारे देश में अंत्योदय राशन कार्ड उन लोगों को उपलब्ध करवाया जाता है जिनके पास आय का कोई स्रोत ही नहीं होता है।

सरकार के द्वारा प्रारंभ की गई इस योजना के तहत प्रदान किया जाने वाले इस दस्तावेज से लाभार्थी को 35 किलो तक का अनाज प्राप्त करने का अवसर मिलता है।

राशनकार्ड लाभार्थी सूची में होने वाला वेरीफिकेशन

राशन कार्ड योजना के तहत मुख्य रूप से नियमित रूप से 1 लाभार्थी सूची जारी की जाती है। इस लाभार्थी सूची में जिन भी लोगों का नाम होता है। उन्हें सरकार राशन उपलब्ध करवाती है। 

जारी किए जाने वाले इस राशन कार्ड में जिन लाभार्थियों का नाम होता है। उन्हें यह बात अवश्य ही जान लेनी चाहिए कि इस सूची में नियमित रूप से संशोधन किया जाता रहता है।

जिसके परिणाम स्वरूप इस योजना के तहत लाभार्थियों के नाम को अक्सर काट भी दिया जाता है।

किंतु इस विषय में भी जान लेना आवश्यक है कि इस योजना के तहत जिन भी व्यक्ति को अपात्र माना जाता है। उसके नाम भी राशन कार्ड की सूची से काट दिए जाते हैं।

किन कारणों से कटता है नाम?

यदि लाभार्थी राशन कार्ड का नियमित इस्तेमाल नहीं करता है, तो इस स्थिति में भी राशनकार्ड लाभार्थी सूची से उसके नाम को हटा दिया जाता है।

किंतु यदि लाभार्थी कभी राशन लेता है, वही कभी-कभी लंबे समय तक राशन नहीं लेता है तो ऐसी स्थिति में भी यह खतरा बन सकता है कि उसका नाम लाभार्थी सूची से कट जाएगा।

यदि लाभार्थी राशन कार्ड योजना के तहत अपात्र माना जाता है, तो ऐसी स्थिति में भी उसे इस योजना के तहत लाभ की प्राप्ति नहीं होगी।

कैसे करें चेक नाम काटा या नहीं?

प्रत्येक राशन कार्ड धारक को समय-समय पर चेक करते रहना चाहिए कि राशन कार्ड लाभार्थी सूची से उसका नाम कटा है अथवा नहीं। अक्सर परिवार के किसी सदस्य का भी नाम इस लाभार्थी सूची से कट जाता है। 

इसके लिए आपको सर्वप्रथम तो अधिकारिक वेबसाइट में विजिट करना होगा। जिसके लिए आप https://nfsa.gov.in/Default.aspx का प्रयोग कर सकते हैं।

इसके बाद ‘राशन कार्ड’ वाले ऑप्शन पर क्लिक कर देना पड़ेगा।

तत्पश्चात आपको “राशन कार्ड डिटेल अॉन स्टेट पोर्टल” वाले विकल्प का चयन कर लेना है। 

अब आपको स्वयं के राज्य का चयन कर लेना है। उसके पश्चात जिला ब्लाक और पंचायत भी चुन लेना है।

ऐसा करने के पश्चात आपको राशन वाले दुकान, राशन डीलर का नाम तथा अपने राशन कार्ड के प्रकार को चुन लेना है।

आपके समक्ष एक अन्य लिस्ट खुल करके आ जाएगी‌। यहां पर आप चेक कर सकते हैं कि आपका नाम राशन कार्ड से कट गया है अथवा नहीं कटा है!

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हम सभी लोगों ने राशन कार्ड योजना से संबंधित सारी आवश्यक तथ्यों पर विस्तारपूर्वक चर्चा की है। इसके साथ ही साथ राशनकार्ड लाभार्थी सूची से नाम कटने के कारणों पर भी चर्चा की है। 

x