PM Kisan Yojana: किसानों के लिए बड़ी ख़ुशी की खबर ! खाते में आने वाले 2000, तुरंत चेक करें अपना नाम

आज के इस पोस्ट में हम सभी लोग सरकार के द्वारा लाई गई एक अत्यंत लाभकारी योजना जिसे सभी लोग पीएम किसान योजना के नाम से जानते हैं, पर विस्तार पूर्वक चर्चा करने वाले हैं। 

पीएम किसान योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों को सरकार के द्वारा न केवल आर्थिक सहायता की प्राप्ति होती है। अपितु उन्हें कम ब्याज दर पर लोन की प्राप्ति भी होती है। 

किंतु इसके लिए उन्हें एक प्रक्रिया से हो करके गुजरना होता है। तत्पश्चात ही यह सौभाग्य उन्हें प्राप्त हो पाता है। पीएम किसान योजना सरकार के द्वारा शुरू की गई एक ऐसी योजना है, जिसका लाभ देश के छोटे तथा सीमांत किसानों को प्राप्त होता है। 

कितने रुपए की धनराशि दी जाती है?

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों को केंद्र सरकार के द्वारा आर्थिक सहायता की प्राप्ति नियमित रूप से होती है। इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों को सालाना ₹6000 की धनराशि केंद्र सरकार उपलब्ध करवाती है।

हालांकि यह धनराशि लाभार्थियों को एक ही बार में उपलब्ध नहीं करवा दी जाती है। अर्थात यह धनराशि उनके बैंक अकाउंट में ₹2000 की तीन सामान किस्तों में भेजी जाती है। 

इस योजना की यह सर्वोत्तम बात है कि इस योजना के तहत जो आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाती है, वह लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में सीधे सरकार के द्वारा ट्रांसफर की जाती है। यह धनराशि ना तो कोई कर्मचारी और ना ही कोई अफसर इन लाभार्थियों तक पहुंचाता है। 

कब कब दी जाती है यह किस्त?

लाभार्थियों को इस योजना के तहत जो आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई जाती है। वह तीन सामान्य किस्तों में उपलब्ध कराई जाती है। किंतु एक किस्त से दूसरे किसी के माध्यम का समय अंतराल भी 4 महीनों का होता है।

अर्थात एक किस्त को यदि इस महीने लाभार्थियों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाती है, तो फिर 4 महीने के पश्चात उनके बैंक अकाउंट में अगली किस्त भेजी जाएगी। 

वैसे तो इस योजना के तहत कुल 3 किस्ते उपलब्ध करवाई जाती है। जो कि क्रमशः अप्रैल से जुलाई, अगस्त से नवंबर, तथादिसंबर से मार्च के मध्य में जारी कर दी जाती है।  

इस योजना हेतु पात्रता

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत आवेदन करने से पूर्व यह जान लेना आवश्यक है कि आखिर इस योजना के तहत पात्रता मापदंड किस प्रकार से निर्धारित किया गया है?

आवेदन कर्ता की आयु 18 वर्ष से लेकर के 60 वर्ष के मध्य में होनी चाहिए।

आवेदन कर्ता के पास भारतीय मूल नागरिकता होनी चाहिए। जिसके परिणाम स्वरूप उसके पास आधार कार्ड, पैन कार्ड तथा वोटर आईडी कार्ड भी होना चाहिए। 

आवेदन कर्ता के पास लगभग 2 हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए। 

जमीन के सारे कागजात आवेदन कर्ता के नाम पर ही होने चाहिए। यदि उसके पिता अथवा दादा के नाम पर यह कागजात होंगे, तो उसे इस योजना के तहत लाभान्वित नहीं किया जाएगा। 

आवेदन कर्ता के घर में चार पहिया वाहन होना पूर्णत वर्जित है। 

इस योजना के तहत लाभार्थियों के परिवार में यदि कोई सदस्य सरकारी नौकरी करता है, तो इस स्थिति में भी इस योजना का लाभ मिलना बंद हो जाएगा। 

अब सबको नहीं मिलेगा लाभ

इस योजना के तहत लगभग 13 किस्तों का भुगतान सफलतापूर्वक किया जा चुका है। किंतु अब प्रत्येक लाभार्थी को इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त होगा।

क्योंकि केंद्र सरकार की ओर से एक महत्वपूर्ण घोषणा की गई है। जिसके मुताबिक प्रत्येक लाभार्थी को अपने ईकेवाईसी को पूर्ण करना होगा। तभी उसे इस योजना के तहत लाभ की प्राप्ति होगी।

क्योंकि इस योजना के तहत काफी सारे अपात्र लोग आ चुके हैं। ऐसे में उनका पता लगाने हेतु ईकेवाईसी की प्रक्रिया को अनिवार्य कर दिया गया है। अगर कोई लाभार्थी अपना ईकेवाईसी नहीं करवाता है, तो उसे इस योजना के तहत उपलब्ध कराई जाने वाली सुविधाओं से हाथ धोना पड़ सकता है। 

किसान क्रेडिट कार्ड माफी योजना क्या है?

पीएम किसान योजना के तहत ही किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत की गई है। ऐसे में यदि आप इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, तो फिर आवश्यक है कि आप पीएम किसान योजना के तहत भी लाभान्वित हो रहे हो। 

क्योंकि इस योजना के तहत केवल उन्हें ही लाभांवित किया जाएगा। किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत सर्वप्रथम तो पीएम किसान योजना के लाभार्थी को अपने नजदीकी किसी भी बैंक ब्रांच में जाना होगा और वहां पर किसान क्रेडिट कार्ड प्राप्ति हेतु आवेदन करना होगा।

आवेदन स्वीकृत होने के पश्चात किसान को एक किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध करवा दिया जाएगा। जो कि सामान्यतः एक एटीएम कार्ड की शक्ल में होता है।

उपलब्ध कराए जाने वाला यह क्रेडिट कार्ड किसानों को ₹300000 तक का कर्ज प्राप्त करने में सहायता प्रदान करता है।

इस योजना को प्रारंभ करने का मुख्य उद्देश्य किसानों को सुदखोरों के चंगुल से बचाना है। क्योंकि कृषि कार्य तथा निजी कार्यों के चलते यह अक्सर कर्ज लिया करते हैं, और समय पर कर्ज चुकता न करने के कारण ये इस कर्ज के दलदल में फंसते ही चले जाते हैं। 

आ चुकी है 14वीं किस्त

यदि आप भी इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों में सम्मिलित है, तो फिर आपको भी यह बात अवश्य ही पता होगी कि इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थियों के लिए एक आवश्यक घोषणा की गई है।

जिसके मुताबिक प्रत्येक पात्र उम्मीदवार के बैंक अकाउंट में इस योजना के तहत जारी की जाने वाली किस्त आ चुकी है।

ऐसे में आपके बैंक अकाउंट में इस योजना के तहत किस्त आई है अथवा नहीं? इसे चेक करने हेतु आपको स्वयं का पेमेंट स्टेटमेंट प्राप्त करना होगा।

अगर इस योजना के तहत आपको आर्थिक सहायता की प्राप्ति नहीं हुई है, तो आप को शीघ्र अति शीघ्र अपने ईकेवाईसी को पूर्ण कर लेना होगा क्योंकि संभवतः इस कारण से भी आपके किस्त के पैसे रुके हुए होंगे!

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हमने आप सभी लोगों के समक्ष पीएम किसान सम्मान निधि योजना से संबंधित सारी आवश्यक जानकारियां उल्लेखित कर दी है।

इसके अतिरिक्त किसान क्रेडिट कार्ड योजना से संबंधित आवश्यक जानकारियों का उल्लेख भी इस पोस्ट में उपलब्ध करवाया गया है। 

x