Pan Card Update 2023: आज से बदल गई कार्ड धारकों की किस्मत, सरकार ने किया बड़ा ऐलान 

पैन कार्ड एक आवश्यक दस्तावेज है। इस विषय में सभी लोग जानते हैं। लेकिन इससे संबंधित एक अत्यंत आवश्यक घोषणा है, जिस विषय में प्रत्येक व्यक्ति को जानकारी नहीं है।

आज की इस पोस्ट में हम सभी लोग उसी घोषणा पर विस्तार पूर्वक चर्चा करने वाले हैं। जिस के विषय में प्रत्येक पैन कार्ड धारकों को पता होना ही चाहिए। अन्यथा उन्हें काफी ज्यादा नुकसान झेलना पड़ सकता है।

पैन कार्ड क्या है?

पैन कार्ड एक सरकारी दस्तावेज है, जो कि आयकर विभाग के द्वारा जारी किया जाता है। इस दस्तावेज़ की प्राप्ति हेतु आवेदन कर्ता की आयु 18 वर्ष से अधिक की होनी चाहिए। तभी वह पेन कार्ड प्राप्ति हेतु आवेदन कर सकता है। 

हालांकि 18 साल से कम उम्र वाले लोग भी इस दस्तावेज की प्राप्ति हेतु आवेदन कर सकते हैं। किंतु इस प्रकार से प्राप्त होने वाले दस्तावेज में आवेदन कर्ता की तस्वीर नहीं होती है, और इस प्रकार के पैन कार्ड को माइनर पैन कार्ड कहा जाता है। 

वैसे तो पैन कार्ड अर्थात permanent account number एक दस्तावेज होती है। जिसमें प्रारंभिक संख्या तो अल्फाबेटिक होती है। वहीं अंतिम संख्या में कुछ नुमैरिकल नम्बर होते हैं। 

अनिवार्य है आधार से लिंक करवाना

आप की जानकारी हेतु हम आप को इस बात से अवगत करवा दे कि अभी पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कराने की प्रक्रिया को अनिवार्य घोषित कर दिया गया है।

प्रत्येक पैन कार्ड धारक को अपने आधार कार्ड से अपने पैन कार्ड को लिंक करवाना ही होगा। सरकार के द्वारा एक निश्चित तिथि की भी घोषणा की गई थी। उस तिथि से पूर्व ही सभी पैन कार्ड धारकों को अपने आधार से पैन कार्ड को लिंक करवा लेना है। 

जो कि 30 जून 2023 की थी। लेकिन काफी सारे लोगों ने अपने आधार कार्ड से पैन कार्ड को लिंक नहीं करवाया। परिणाम स्वरुप अब उनके लिए भारी समस्या उत्पन्न होने वाली है। 

क्या देना होगा कोई शुल्क?

प्रारंभ में जब सरकार के द्वारा इस प्रक्रिया को अनिवार्य घोषित किया गया था। तब किसी भी प्रकार के शुल्क को देने की आवश्यकता नहीं थी। आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट में जाकर के इस प्रक्रिया को बिना किसी परेशानी के पूर्ण किया जा सकता था। 

जिसमें पैन कार्ड धारक को अपने पैन कार्ड संख्या को डालना था। उसके पश्चात आधार कार्ड संख्या को डालने के पश्चात आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेज दी जाती और उस ओटीपी को सबमिट करने के पश्चात आधार कार्ड से पैन कार्ड लिंक हो जाता। 

किंतु चुंकि अभी काफी सारे लोगों ने इस आवश्यकता के ऊपर गौर नहीं किया, तो अब उनके लिए काफी बड़ी समस्या उत्पन्न हो चुकी है। अब उन्हें अपने आधार कार्ड से पैन कार्ड को लिंक करवाने हेतु ₹1000 की धनराशि का भुगतान करना होगा। 

पड़ सकता है जुर्माना

यदि आप अपने आधार कार्ड से पैन कार्ड को लिंक नहीं करवाते हैं, तो फिर आपको निसंदेह रूप से ₹10000 तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है।

यदि आप इस जुर्माने को भरने से बचना चाहते हैं, तो आपको शीघ्र अति शीघ्र अपने आधार कार्ड से अपने पैन कार्ड को लिंक करवाना होगा।

किंतु आपको एक विशेष बात का भी ध्यान रखना है कि आधार कार्ड से पैन कार्ड को लिंक कराने की इस प्रक्रिया को आपको 30 जून 2023 से पूर्व ही संपन्न कर देना होगा।

अगर आप निर्धारित तिथि से पूर्व अपने आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक नहीं करवा पाते हैं, तो फिर आपको ₹10000 का जुर्माना तो भरना ही होगा। इसके अतिरिक्त संभवतः आपके पैन कार्ड को भी डीएक्टिवेट कर दिया जाएगा। 

पैन कार्ड का प्रयोग

सरकार के द्वारा जारी की जाने वाली इस दस्तावेज की प्राप्ति हेतु प्रत्येक व्यक्ति आतुर होता है। वह प्रतीक्षा करते हैं कि कब उनकी आयु 18 वर्ष की हो और वह पैन कार्ड प्राप्ति हेतु आवेदन कर सकें। 

हम आपको बता दें कि इस दस्तावेज की आवश्यकता के वजह से ही इस दस्तावेज़ को बनाने हेतु लोगों में इतनी आतुरता देखी जाती है। पैन कार्ड बनने के पश्चात आधार कार्ड के अतिरिक्त यह एक अन्य पहचान पत्र के रूप में कार्य करता है। 

इसके अलावा इस दस्तावेज के माध्यम से लाभार्थी बिना किसी परेशानी के किसी भी बैंक में जा करके अपना खाता खुलवा सकता है। इसके अतिरिक्त सरकार के द्वारा लाई जाने वाले अधिकतर योजनाओं में भी इसका प्रयोग होता है। 

क्यों आवश्यक है पैन कार्ड को आधार से लिंक कराना?

यह बात तो सभी को पता है कि सरकार ऐसे ही किसी भी प्रक्रिया को अनिवार्य नहीं घोषित कर देती है। सरकार के द्वारा पैन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कराने की इस प्रक्रिया को अनिवार्य कराने के पीछे भी एक अत्यंत आवश्यक कारण रहा है। 

आपकी जानकारी हेतु हम आपको बता दें कि आयकर विभाग के द्वारा प्रारंभ में त्रुटि से एक पैन कार्ड नंबर एक से अधिक व्यक्तियों के लिए जारी किए जा चुके थे। परिणाम स्वरूप काफी सारी परेशानियों का सामना पैन कार्ड धारकों के साथ आयकर विभाग को भी करना पड़ रहा था। 

इस के अतिरिक्त एक व्यक्ति के लिए एक से अधिक पैन कार्ड को भी जारी कर दिया गया था। ऐसे में यदि आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करा दिया जाएगा। तो फिर अन्य पैन कार्ड स्वत ही डीएक्टिवेट हो जाएंगे। 

कैसे प्राप्त होता है पैन कार्ड?

पैन कार्ड प्राप्ति हेतु सर्वप्रथम आवेदन करना होता है। जिसके लिए आप अपने नजदीकी किसी भी साइबर कैफे में जा सकते हैं। वहां पर आपका पैन कार्ड प्राप्ति हेतु फॉर्म प्रदान किया जाएगा। यहां पर आप को सारी जानकारियों को सावधानीपूर्वक भर देना है। 

इसके अतिरिक्त जब आप फॉर्म सबमिट कर देंगे, तो 1 सप्ताह से 15 दिनों के भीतर ही पैन कार्ड बनकर तैयार हो जाता है। जो कि प्रदान किए गए ईमेल आईडी पर भेज दिया जाता है। 

इसके पश्चात पोस्ट के माध्यम से पैन कार्ड को एक महीने में लगभग प्राप्त किया जा सकता है। पैन कार्ड की प्राप्ति के पश्चात आवेदन कर्ता इसका प्रयोग बेहद आसानी से कर सकते हैं। 

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हमने आप सभी लोगों के समक्ष आधार कार्ड से पैन कार्ड को लिंक कराने की अनिवार्यता पर विस्तारपूर्वक चर्चा की है। हमें आशा है कि हमारा यह प्रयास आपके लिए हितकारी सिद्ध होगा। 

x