UP TET 2023 : आज सुप्रीम कोर्ट ने यूपी टीईटी के 600000 लाख अभ्यर्थियों को दिया खुशखबरी, आज सुनाया भर्ती पर बड़ा फैसला

UP TET 2023: सुप्रीम कोर्ट ने बीटीसी बनाम बीएड मामले में अदालती फैसले में एक महत्वपूर्ण बदलाव किया है। इस फैसले के तहत, सुप्रीम कोर्ट ने राजस्थान हाई कोर्ट के फैसले को मान्यता दी है। इस निर्णय के परिणामस्वरूप, बीएड अभ्यर्थियों को एक बड़ी झटका लगा है।

इसके बावजूद, यह समाचार यूपी टीईटी के उम्मीदवारों के लिए खुशी की बात है। इस पूरे वक्त के बाद, जब से यूपी टीईटी के लाखों उम्मीदवार सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की प्रतीक्षा कर रहे थे, सुप्रीम कोर्ट ने आखिरकार अपना निर्णय सुनाया है। इस फैसले के बाद, उनके लिए नौकरी की दिशा में साफी हो गई है।

अभ्यर्थियों को मिलेंगे सर्टिफिकेट UP TET 2023

UP TET 2023: यूपी टीईटी 2021 में शामिल होने वाले उम्मीदवार बहुत समय से सर्टिफिकेट के मुद्दे से परेशान थे। जब सुप्रीम कोर्ट ने बीटीसी बनाम B.Ed मामले में निर्णय सुनाया, तो इन उम्मीदवारों के चेहरों पर खुशी की मुस्कान थी।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद स्पष्ट हो गया कि जिन अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट को प्रयागराज मुख्यालय परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने रोका था, उन्हें अब उन सर्टिफिकेटों की प्राप्ति होगी।

इस कारण रोके गए थे सर्टिफिकेट

UP TET 2023: प्रायगराज मुख्यालय परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने यूपीटीईटी 2023 में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट वितरण को रोक दिया था। बताया जाता है कि प्राथमिक शिक्षक भर्ती के लिए बीटीसी डिप्लोमा धारक अभ्यर्थियों को ही राजस्थान हाईकोर्ट ने पात्र माना था।

इसके बाद, यह मामला सुप्रीम कोर्ट में ले जाया गया, और सुप्रीम कोर्ट के इस मामले में निर्णय आने तक प्रायगराज मुख्यालय परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने सर्टिफिकेट वितरण पर रोक लगा दी थी।

इतने अभ्यर्थियों को मिलेंगे सर्टिफिकेट UP TET 2023

यूपीटीईटी 2021 की आयोजना में, कुल 6,60,592 उम्मीदवारों ने सफलता प्राप्त की थी। इस परीक्षा को दो स्तरों पर आयोजित किया गया था – पहला स्तर प्राइमरी और दूसरा स्तर अपर प्राइमरी। प्राइमरी स्तर पर, 11,47,090 उम्मीदवार शामिल हुए थे। इनमें से 6.91 लाख से अधिक उम्मीदवार बीएड डिग्री धारक थे और 4.55 लाख उम्मीदवार डीएलएड सर्टिफिकेट धारक थे।

सफल उम्मीदवारों की बात करते हुए, परीक्षा नियामक प्राधिकरण (ERA) के आंकड़ों के अनुसार, लगभग 2.20 लाख बीएड अभ्यर्थियों को पास माना गया। इसके साथ ही, 2.23 लाख डीएलएड अभ्यर्थियों को भी पास माना गया। अपर प्राइमरी स्तर की परीक्षा में, कुल 7,65,921 उम्मीदवार शामिल हुए थे, जिनमें से 2,16,994 उम्मीदवारों को पास घोषित किया गया था।

परीक्षा का इस माह किया गया था आयोजन (The exam was conducted this month)

  • यूपी टीईटी 2021 की परीक्षा का आयोजन इसी साल जनवरी महीने में किया गया था। आयोग द्वारा परीक्षा का आयोजन 23 जनवरी 2023 को किया गया था।
  • इसके बाद, परीक्षा के लगभग दो महीने बाद, यानी 8 फरवरी 2023 को, आयोग ने यूपी टीईटी 2021 का परिणाम घोषित कर दिया था।
  • यह परीक्षा प्राइमरी लेवल और अपर प्राइमरी लेवल दोनों स्तरों पर आयोजित की गई थी, और इसमें लाखों अभ्यर्थियों ने भाग लिया था।

Disclaimer :- हम जानते हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ऐसी ख़बरें वायरल होती हैं, इसलिए हम सभी को सतर्क रहने की सलाह देते हैं। हम चाहते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से जाँच करें और ख़बर की सटीकता को सुनिश्चित करें, क्योंकि यहाँ दी गई जानकारी के लिए “wdeeh.com” कोई ज़िम्मेदारी नहीं स्वीकार करता है।

x