PM Kisan Yojana की 15वीं किस्त आने वाली है क्या आप हैं पात्र, जानिए कैसे चेक करें स्टेटस

PM Kisan Yojana: केंद्र सरकार ने किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए विभिन्न योजनाएं शुरू की हैं। इन योजनाओं के अंतर्गत, सरकार किसानों के लिए विशेष राशि का भुगतान करती है, जो कि सीधे उनके बैंक खातों में जमा की जाती है। आज हम आपको बताएंगे कि आप कैसे पीएम किसान की 15वीं किस्त की जांच कर सकते हैं और आपको इसके लाभ का पता कैसे लगा सकते हैं।

“पीएम किसान सम्मान निधि योजना” केंद्र सरकार द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गई है। इस योजना के अंतर्गत, किसानों को हर साल 6,000 रुपये की राशि प्रदान की जाती है। यह राशि किसानों को नियमित अंतराल में मिलती है, जिसमें 2,000 रुपये की तीन किस्तें दी जाती हैं। इस योजना के अब तक 14 किस्तें आयोजित की गई हैं और किसानों को अब 15 वीं किस्त के लिए पंजीकरण करवाना होगा।

PM Kisan Yojana: यदि आपने भी इस योजना के लिए पंजीकरण करवा दिया है, तो आपको एक बार जाँचने की सिफारिश की जा सकती है कि क्या आपको इस योजना के अधिकार हासिल होंगे या नहीं। इसके साथ ही, यह महत्वपूर्ण हो सकता है कि आपको योजना की किस्तें नहीं मिलने के पीछे का कारण भी जानने में मदद मिल सके। हम यहाँ आपको इस विषय में जानकारी प्रदान करने के उद्देश्य से आगे बता रहे हैं।

ऐसे चेक करें स्टेट्स

  • पीएम किसान योजना की स्थिति जांचने के लिए सबसे पहले आपको पीएम किसान पोर्टल (https://pmkisan.gov.in/) पर जाना होगा।
  • इसके बाद, आपको “बेनिफिशियरी स्टेटस” विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आगे बढ़ते हुए, आपको अपना पंजीकरण नंबर या पंजीकृत मोबाइल नंबर डालना होगा।
  • इसके बाद, आपको स्क्रीन पर दिख रहे कैप्चा कोड को दर्ज करना होगा।
  • आगे बढ़ने के लिए, आपको “सबमिट” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट करने के बाद, आपको आपकी स्थिति दिखाई देगी।
  • यदि स्क्रीन पर “ई-केवाईसी”, “पात्रता” और “लैंड साइडिंग” के आगे “नहीं” लिखा हुआ दिखाई देता है, तो यह मतलब होता है कि आप इस योजना के लाभार्थी नहीं हैं।

इस वजह से अटक सकती है किस्त

  • PM Kisan Yojana: कई किसानों के बैंक खातों में अब तक 14वीं किस्त
  • की राशि जमा नहीं हुई है, इसका कारण है कि सरकार ने नियमों में सख्ती
  • बढ़ा दी है ताकि धोखाधड़ी तत्वों को रोका जा सके। ऐसे किसानों को अब
  • इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है जिन्होंने गैर-कानूनी तरीकों से
  • इस योजना का उपयोग किया था। इसके साथ ही, अगर किसी किसान ने
  • अपनी ई-प्रमाणीकरण प्रक्रिया को पूरा नहीं किया है, तो उसे इस योजना
  • के लाभ से वंचित रहने का खतरा है।

इस योजना के अधिकार्यों ने तय किया है कि इसका प्राथमिक उद्देश्य केवल वही किसान होंगे जो योजना की पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं। इसका मतलब है कि उन किसानों को ही योजना के लाभ प्राप्त होंगे जिनकी कृषि और जमीन की आवश्यक मापदंडों के अनुसार पात्रता सिद्ध होती है।

किसान को योजना के अनुसार लाभ प्राप्त करने के लिए सख्ती से नियमों का पालन करना होगा। यदि किसी किसान द्वारा योजना के लाभ को गैरकानूनी तरीकों से प्राप्त किया जाता है, तो ऐसे मामले में उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जा सकती है।

PM Kisan Yojana: आवश्यक है ई-केवाईसी

  • इसके अलावा, किसानों को योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए आवश्यक
  • ई-केवाईसी की प्रक्रिया को पूरा करना होगा। इससे उनकी पहचान सत्यापित
  • की जाएगी और उन्हें योजना के अनुसार लाभ प्रदान किया जा सकेगा।
  • किसानों को अपनी जमीन के सत्यापन की भी आवश्यकता होती है, ताकि
  • उनकी पात्रता की जाँच की जा सके। अगर कोई किसान इसका पालन नहीं
  • करता है, तो उसे योजना के लाभ का अधिकार नहीं होता।
  • कई मौकों पर, किसान गलत बैंक खाता नंबर दर्ज कर देते हैं। ऐसा करने
  • से उन्हें योजना के लाभ की पहुंच नहीं पाती है। इस प्रकार की स्थिति में,
  • किसानों को किसी भी जानकारी को स्वीकार करते समय अत्यंत
  • सतर्क रहने की आवश्यकता होती है।

Disclaimer :- हम जानते हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ऐसी खबरें वायरल होती हैं, इसलिए हम सभी को सतर्क रहने की सलाह देते हैं। हम चाहते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से जाँच करें और खबर की सटीकता को सुनिश्चित करें, क्योंकि यहां दी गई जानकारी के लिए “wdeeh.com” कोई ज़िम्मेदारी नहीं स्वीकार करता है।

x