Employees and Pensioners DA Hike: क्या 2024 में नया वेतन आयोग लागू होगा या डीए 50% होगा? यहां जानें अपडेट

Employees and Pensioners DA Hike: 2023 के लिए नई दरों की घोषणा कर दी गई है और अब अगला DA साल 2024 में संशोधित किया जाएगा, जो जुलाई से दिसंबर 2023 के लिए AICPI इंडेक्स डेटा पर निर्भर करेगा.

Employees and Pensioners DA Hike: दिवाली से पहले केंद्र की मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारी पेंशनभोगियों को महंगाई भत्ता, दिवाली बोनस और 3 महीने के एरियर का तोहफा दिया है। जुलाई 2023 के लिए DA में 4 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है, जिसके बाद DA 42% से बढ़कर 46% हो गया है. अब अगला महंगाई भत्ता 2024 में संशोधित किया जाएगा, हालांकि अगली बार बढ़ोतरी की मात्रा AICPI इंडेक्स के छमाही आंकड़ों पर निर्भर करेगी. लेकिन AICPI इंडेक्स के अब तक के आंकड़ों से उम्मीद है कि नए साल में DA 50 फीसदी तक बढ़ जाएगा. पार किया जा सकता है.

Caneup.in 2023-24: गन्ना पर्ची कैलेंडर अपने फोन पर ऐसे चेक करेंगे

Kisan Karj Mafi List: अब सभी किसानो का पूरा कर्ज हुआ माफ़! यहाँ से नई लिस्ट चेक करें

2024 में फिर कितना बढ़ेगा महंगाई भत्ता?

Employees and Pensioners DA Hike: दरअसल, केंद्र सरकार साल में दो बार जनवरी और जुलाई में केंद्रीय कर्मचारियों-पेंशनभोगियों की डीए/डीआर दरों में संशोधन करती है, जो एआईसीपीआई इंडेक्स के छमाही आंकड़ों पर निर्भर करता है। 2023 के लिए नई दरों की घोषणा कर दी गई है और अब अगला DA साल 2024 में संशोधित किया जाएगा, जो जुलाई से दिसंबर 2023 के AICPI इंडेक्स डेटा पर निर्भर करेगा। अब तक, जुलाई और अगस्त के लिए AICPI इंडेक्स नंबर जारी किए जा चुके हैं। जो इंडेक्स 139.2 अंक पर पहुंच गया है और डीए स्कोर 47.98 फीसदी है. सितंबर में यह आंकड़ा 48.50 फीसदी को पार कर सकता है. सितंबर, अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर के आंकड़े अभी जारी होने बाकी हैं, जिससे तय होगा कि जनवरी 2024 में डीए कितना बढ़ेगा। हालांकि, अंतिम फैसला केंद्र सरकार ही लेगी।

चीनी मिल पर गन्ना डायवर्जन का खतरा, दिए समय पर क्या शुरू हो पाएगा पेराई सत्र|

LPG सिलेंडर हुआ सस्ता, छठ से पहले बड़ी राहत, आज से नया रेट लागू

अगर DA 50% हो जाए तो क्या होगा?

अगर अगले साल जनवरी 2024 के लिए DA दरों में 4% से 5% की बढ़ोतरी होती है, तो महंगाई भत्ता 50% तक पहुंच जाएगा, ऐसी स्थिति में कर्मचारियों के वेतन में संशोधन किया जाएगा क्योंकि सातवें वेतन आयोग के गठन के साथ, केंद्र सरकार ने महंगाई दर को ध्यान में रखा है. भत्तों में संशोधन के नियम तय किए गए कि डीए 50% तक पहुंचने पर शून्य हो जाएगा, 50% डीए मौजूदा मूल वेतन में जोड़कर दिया जाएगा और डीए की गणना शून्य से शुरू होगी। इसी तरह कई तरह के भत्तों में 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी होगी. बढ़ोतरी होगी.

7th Pay Commission DA Hike 2023:

  • 7वें वेतन आयोग का गठन 2013 में हुआ था, और उसकी सिफारिशें 2016 में लागू हुईं।
  • डीए 50% पर पहुंचने पर इसे शून्य हो सकता है, और नया वेतन आयोग बनाना हो सकता है।
  • केंद्र सरकार को वेतन बढ़ाने या नए नियम लाने का विचार करना हो सकता है।
  • हर 10 साल में एक नए वेतन आयोग का गठन होता रहा है।
  • सरकार को 2024 में नए वेतन आयोग पर विचार करना पड़ सकता है।
  • इसकी आधिकारिक पुष्टि अभी तक नहीं हुई है, लेकिन अनुमान लगाया जा सकता है।
  • मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए यह अनुमानित रहा है कि सरकार कदम उठा सकती है।
  • वेतन आयोग के बिना नए नियमों का अध्ययन करने का विचार किया जा सकता है।
  • सैलरी में वृद्धि या नए निर्देशों की आवश्यकता हो सकती है।
  • सरकार को वेतन बढ़ाने के लिए समय-समय पर आयोग गठित करना आवश्यक हो सकता है।

Garena Free Fire MAX Redeem Codes for November 17: रोमांचक मुफ़्त चीज़ें इकट्ठा करें

Railway Group D 3L Recruitment: रेलवे ग्रुप डी में 300000 से अधिक पदों पर नई भर्ती

महंगाई भत्ते की गणना कैसे की जाती है?

  • केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए डीए की गणना पिछले 12 महीनों के औसत उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के आधार पर की जाती है।
  • इस आधार से, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक को आधार वर्ष 2001 के 100 के खिलाफ 115.76 या 126.33 से गुणा किया जाता है।
  • केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए इस सूत्र के अनुसार, गणना के लिए औसत उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का प्रयोग होता है।
  • इस गणना में, आधार वर्ष 2001 को 100 मानकर उपभोक्ता मूल्य सूचकांक को उसके आधार पर मूल्यांकन किया जाता है।
  • सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए सूत्र में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का मान 126.33 दिखाया जाता है।
  • यह गणना केंद्र सरकार के कर्मचारियों के डीए की दर में परिवर्तन का मूल्यांकन करने में मदद करती है।
  • आधार वर्ष 2001 की मूल्यांकन से उपभोक्ता मूल्य को समझाया जाता है, जिससे दरों का निर्धारण किया जा सकता है।
  • यह तरीका सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए उपयुक्त और स्पष्ट है।
  • गणना के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का समय-समय पर संशोधन किया जा सकता है।
  • इस विधि से कर्मचारियों के डीए में समर्थन और स्थिरता की सुनिश्चितता होती है।

आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को मिली राहत, राज्य सरकार ने जारी किया आदेश, 4 महीने के मानदेय का होगा भुगतान

Caneup.in 2023-24: गन्ना पर्ची कैलेंडर अपने फोन पर ऐसे चेक करेंगे

Dearness allowance increase

  • महंगाई भत्ते की गणना, डीए की मौजूदा दर और मूल वेतन को गुणा करके होती है।
  • आपका मूल वेतन 18 हजार रुपये है, और डीए 46 प्रतिशत है।
  • आपका डीए फॉर्मूला (45 x 29200)/100 के आधार पर होगा।
  • महंगाई राहत की भी गणना पेंशनभोगियों के लिए की जाती है।
  • पेंशनभोगियों का मूल वेतन और महंगाई राहत का आधार समझा जाता है।
  • इसके तुलना में, यदि आपकी महंगाई राहत 20 प्रतिशत है, तो फॉर्मूला (20 x मूल वेतन)/100 होगा।
  • यह प्रक्रिया सरकारी कर्मचारियों के लिए लागू होती है जो भत्तों का लाभ उठाते हैं।
  • गणना में उच्च महंगाई दर वाले क्षेत्रों का ध्यान रखा जाता है।
  • पेंशनभोगियों को संरक्षित महंगाई राहत देने के लिए यह प्रक्रिया अनुसरण की जाती है।
  • भत्तों की गणना में पूर्वानुमान और मौजूदा दरों का समीकरण किया जाता है।
हमारे ग्रुप से जुड़ेClick Here
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

Disclaimer :- हम जानते हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ऐसी ख़बरें वायरल होती हैं, इसलिए हम सभी को सतर्क रहने की सलाह देते हैं ! हम चाहते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से जाँच करें और ख़बर की सटीकता को सुनिश्चित करें, क्योंकि यहाँ दी गई जानकारी के लिए “wdeeh.com” कोई ज़िम्मेदारी नहीं स्वीकार करता है !

x