11 तरीकों से आप 8 घंटे लगातार पढ़ सकते है?

हर कोई वह तरीका जानना चाहता है, जो उसे दूसरों से आगे रख सके। ऐसा ही एक क्षेत्र है अपने पढ़ाई में ज्यादा देर तक फोकस करना। क्या होगा यदि आप हर दिन पढ़ने के समय को आठ से दस घंटे तक बढ़ा सकते हैं?

यह कठिन है, इसमें कोई संदेह नहीं है, लेकिन इसे कर पाना संभव है। इस पोस्ट में, मैं 11 चरणों को कवर करूंगी जो अध्ययन करते समय आपको सुस्ती से लड़ने में मदद करेंगे (साथ ही अतिरिक्त कदम जो आप शाम को नींद से लड़ने के लिए उठा सकते हैं) और इस प्रकार अपने दैनिक उत्पादन में वृद्धि करें।

1. अपना डेली रूटीन बनाएं: 

हर सक्सेसफुल इंसान के सफलता के पीछे उसका अच्छा दिनचर्या शामिल होता है। इसलिए आप भी अपने लक्ष्य को पाना चाहते है तो सबसे जरूरी है अपना टाइम टेबल बनाएं कि कब आपको पढ़ना है, कब खाना है, कब सोना है, इत्यादि।

एक ही तरह की दिनचर्या को फॉलो करने से वो आपकी आदत बन जाएगी और फिर आप 8 घंटे तो क्या, 12 घंटे भी पढ़ाई कर लेंगे।

आज ही कॉपी पेन ले और अपने पूरे दिन का रूटीन बना कर उसे कही ऐसी जगह लगा दे जहां से आप हर दिन उसे देख सके और उस पर अंकित कामों को निश्चित समय पर पूरा कर सके। 

2. व्यायाम:

कई बड़े विद्वानों का कहना है कि शारीरिक व्यायाम सीखने की क्षमता और लंबे समय तक याद स्मृति को बढ़ाता है ,और चिंता को भी नियंत्रण करने का काम करता है।

लेकिन व्यायाम के दूसरे लाभों से भी जुड़ा हुआ हैं, यह ध्यान केन्द्रित करने में मदद करता है, होशियारी और प्रेरणा में भी सुधार करता है। व्यायाम का प्रभाव आप स्वयं कुछ दिनों में ही महसूस कर पाएंगे। 

शारीरिक गतिविधि से अकादमिक प्रदर्शन पर तुरंत और लंबे समय तक दोनों लाभ हो सकते हैं।इन लाभों के साथ, आप ना केवल अपने अध्ययन से अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं, बल्कि लंबे समय तक टिके भी रह सकते हैं।हालाँकि, जहां तक आपसे संभव होता है, उतना ही व्यायाम करें।

अत्याधिक कसरत कर देने से कभी कभी गलत परिणाम भी भुगतने पड़ सकते है।(कृपया ध्यान दें कि सभी व्यायाम सभी के लिए उपयुक्त नहीं हैं।

किसी नए व्यायाम का प्रयास करने से पहले लचीलेपन, शक्ति और समग्र स्वास्थ्य जैसे कारकों को ध्यान में रखें ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि कोई विशेष व्यायाम आपके लिए उपयुक्त है या नहीं आप इस संबंध में अपने पेशेवर स्वास्थ्य सेवा से बात कर सकते हैं।)

3. अपना वातावरण बनाएं:

चाहे आप कोई भी काम करें, एक अच्छा माहौल बनाना बहुत जरूरी है। पर्यावरण आपके दिमाग की स्थिति को बहुत गहराई से प्रभावित करता है। अगर आप रोजाना 7 या 8 घंटे जैसे लंबे समय तक पढ़ाई करने की आदत बनाना चाहते हैं तो आपको बहुत अधिक ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता पड़ती है।

आपके आस-पास का थोड़ा सा परिवर्तन आपके फोकस स्तर को बहुत गहराई से प्रभावित कर सकता है। यदि आप अपनी पढ़ाई में अच्छा करना चाहते हैं तो आपको अपने खुद का पढ़ाई का वातावरण बनाना होगा।

आपको अपने घर में एक ऐसी जगह ढूंढनी चाहिए जो शांत हो और आपको आराम दे सके। यदि आपका दिमाग सहज होगा तो यह अधिक जानकारी प्राप्त करेगा और इसे लंबे समय तक याद रख पाएंगे। इसलिए अपना खुद का माहौल बनाना जरूरी है.

4. अपना दिमाग लगाएं:

जब आप कोई चीज शुरू करते हैं तो यह एक प्रमुख बिंदु होता है। खासकर जब आप कोई ऐसा काम शुरू करते हैं, जो आपने पहले नहीं किया है, तो अपने दिमाग को सेट करना जरूरी है।

दिमाग एक असाधारण चीज है क्योंकि एक बार जब आप अपना दिमाग सेट कर लेते हैं तो कठिन चीजें आसान हो जाती हैं। वही एक बार जब आप अपनी दिमागी शक्ति खो देते हैं, तो आसान चीजें बहुत कठिन हो जाती हैं।

जब आप 8 घंटे पढ़ने वाले होते हैं, तो आपको अधिक ध्यान  केंद्रित करने की आवश्यकता होती है। यह काफी थका देने वाला है, मुझे पता है। अपने मन की शक्ति को खोना और उस चीज़ को छोड़ देना आसान है। इसलिए जरूरी है कि आप अपना दिमाग लगाएं और उसे अपने लक्ष्य की याद दिलाते रहें।

5. जरूरी चीजें जुटाएं:

पढ़ाई के दौरान एक और महत्वपूर्ण बात है। पढ़ाई एक कठिन प्रक्रिया है और अगर आपने शुरुआत की है तो आपको लंबे समय तक बैठना होगा। इस बिंदु पर यदि आपके पास अपनी सभी आवश्यक चीजें नहीं हैं, तो आपको चीजों को लेने जाना होगा और यह आपके फोकस स्तर पर प्रभाव डालेगा।

पढ़ाई में एकाग्रता बहुत जरूरी चीज है, अगर एक बार यह टूट जाए तो दोबारा इसे हासिल करना मुश्किल हो जाता है। पेन, पेंसिल, हाइलाइटर, नोटबुक, किताबें पढ़ाई के लिए बैठने से पहले सभी जरूरी चीजें जुटा लेते हैं। बेहतर होगा कि आप सभी चीजों को अपनी स्टडी डेस्क पर ही रखें।

6. दोस्तों से दूरी बनाएं:

अगर आप आने वाले परीक्षा में कुछ अच्छे अंक चाहते हैं, तो दोस्तों को अलविदा कह दें। दोस्ती मानव जीवन के लिए महत्वपूर्ण है, लेकिन यह सब कुछ नहीं है।

आपके मित्र समूह के लिए आपके पास बहुत सी चीजें हैं। इसलिए अपने भविष्य के बारे में सोचें और दोस्तों को बाय बाय कहें। यदि आप समूह में पढ़ाई करना पसन्द करते हैं यह ना करे।

क्‍योंकि ग्रुप स्‍टडी में हर बार छात्र पढ़ाई से ज्‍यादा गॉसिप करते हैं। इससे आपका पूरा दिन खराब हो जाएगा। इसलिए मेरी नजर में अपने घर में पढ़ाई करना बेहतर है।

7. व्याकुलता से बचे:

ध्यान भटकना एक प्रमुख कारण है, जिससे कई छात्र अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते हैं। मोबाइल, सोशल मीडिया, वीडियो गेम, मूवी आदि आज के बच्चे इन चीजों में इतने व्यस्त हैं,कि वे भूल ही जाते हैं कि उनका असली मकसद क्या है।

यदि आप 7 या 8 घंटे पढ़ना चाहते हैं, तो आप इन समय को बर्बाद करने वाली चीजों में समय व्यर्थ नहीं कर सकते।

तो अपने प्रिय फ़ोन और लैपटॉप को अलविदा कहें। और अपनी पढ़ाई और परीक्षा पर ध्यान देना शुरू करें क्योंकि 1 या 2 साल बाद सोशल मीडिया आ जाएगा, लेकिन आपकी परीक्षाएं आपको दूसरा मौका नहीं देंगी।

8. हर रोज के लिए लक्ष्य निर्धारित करें:

जब आप 7 या 8 घंटे पढ़ने जा रहे हैं, तो आप इतने सारे अध्याय और विषय कवर कर पाएंगे। ऐसे में आपको यह जानने की जरूरत है कि आप कौन से विषय पढ़ने जा रहे हैं और कौन से नहीं।

इससे आपको स्पष्ट अंदाजा हो जाएगा कि उस दिन क्या करना है। इसलिए यदि आप 8 घंटे के अध्ययन की योजना बना रहे हैं, तो हर रोज के लिए लक्ष्य निर्धारित करें। यहां लक्ष्यों का मतलब यह निर्धारित करना है कि आप किस अध्याय को किस समय अवधि में पढ़ने जा रहे हैं।

यह समय सारिणी निर्धारित करने से थोड़ा अलग है। क्योंकि जब आप टाइम टेबल सेट करते हैं, तो वह हर दिन के लिए फिक्स होता है, लेकिन हर दिन का लक्ष्य फिक्स नहीं होता।

यहां आप निर्धारित करेंगे कि आप दिन भर किस विषय को पढ़ने जा रहे हैं। मेरे विचार से यह बहुत ही महत्वपूर्ण है।

9. ब्रेक लें:

लंबे समय तक पढ़ाई में ब्रेक लेना जरूरी होता है। ऐसा नहीं है कि एक बार पढ़ने बैठ गए तो 8 घंटे तक पढ़ते रहेंगे। जब आप लंबे समय तक मानसिक काम करते हैं, तो यह बहुत ही सामान्य है कि आपका दिमाग थक जाएगा।

जब आपका दिमाग थक जाएगा, तो आपके लिए और जानकारी लेना मुश्किल हो जाएगा। इस समय में आपको अपने दिमाग को फिर से सक्रिय करने के लिए कुछ समय का ब्रेक लेने की जरूरत पड़ती है।

लगातार दो अध्ययन सत्रों के बीच ब्रेक लें, या प्रत्येक 1 या 1.5 घंटे के अध्ययन सत्र के बाद लगभग 10 से 15 मिनट का ब्रेक लें।

10. सेहत का ध्यान रखें:

ऊपर लिखे गए सभी बिंदुओं में से यह सबसे महत्वपूर्ण बिंदु है। आपका स्वास्थ्य पहली प्राथमिकता है। यदि आपका स्वास्थ्य अच्छा है, तो ऊपर लिखे कार्य आपके लिए बहुत आसान होंगे लेकिन यदि आपका स्वास्थ्य अच्छा नहीं है तो यह काफी कठिन होगा।

इसलिए पढ़ाई के साथ आपको अपने शरीर का भी ध्यान रखना होगा। आपको पौष्टिक भोजन, व्यायाम, पर्याप्त पानी पीने से अपने शरीर को फिट रखना चाहिए। इसलिए कहा जाता है कि “हेल्थ इज वेल्थ”।

11. भारी भोजन करने से बचे: 

यदि आप भारी भोजन करते है, तो इसे आज ही बंद करने की कोशिश करें। ऐसा माना जाता है कि अत्याधिक या हेवी भोजन करने से नींद आने की संभावना बढ़ जाती है।

जब नींद आप पर हावी हो जाएगी, तो आपके लिए लंबे समय तक बैठ कर पढ़ाई करना नामुमकिन हो सकता है। इसलिए अपने भोजन में हल्के और संतुलित आहार को शामिल करें।

एक समय में ढेर सारा खाना ना खाएं, बल्कि बीच बीच में हल्का फुल्का खाएं, जैसे:- सलाद, फल, मेवे, आदि आप खा सकते है, जिससे आपके शरीर में फुर्ती भी बनी रहेगी और पढ़ते पढ़ते थकावट भी नहीं होगी।

निष्कर्ष:

हमने आपको 8 घंटे तक कैसे पढ़ाई करे उससे जुड़ी सारी जानकारी दे दी है। उम्मीद करते हैं कि इससे आपको काफी लंबे समय तक पढ़ने की आदत पड़ेगी। ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारी के लिए हमारे साथ जुड़े रहे।

x