Headlines

Navratri 2023: नवरात्रि में घूमने के लिए इन जगहों का कर सकते हैं प्लान, जानें कितना आएगा खर्च

Navratri 2023

Navratri 2023: आप दशहरे के अवसर पर यदि कहीं घूमने की योजना बना रहे हैं, तो निम्नलिखित स्थानों को आप अपनी योजना में शामिल कर सकते हैं। चलिए जानते हैं कि ये स्थान कौन-कौन से हैं।

Dussehra Festival 2023: दशहरा त्योहार पर, यदि आप कहीं घूमने की योजना बना रहे हैं, तो आपको इसकी तैयारी अबही से ही शुरू कर देनी चाहिए। ऐसा क्योंकि त्योहार सीजन में न तो ट्रेन टिकट आसानी से मिलते हैं और न ही होटलों में कमरे उपलब्ध होते हैं। इसलिए, आपको अभी से ही बुकिंग करनी होगी। तो चलिए, हम आपको भारत में कुछ जगहों के बारे में बताते हैं जहां आप नवरात्रि के दौरान अपने दोस्तों और परिवार के साथ यात्रा की योजना बना सकते हैं।

Navratri 2023: चलिए जानते हैं विस्तार से जहाँ नवरात्रि के दौरान यात्रा की योजना बना सकते हैं –

1. Kolkata (कोलकाता)

  • कोलकाता में नवरात्रि का आयोजन बड़े धूमधाम से मनाया जाता है, जहाँ स्थानीय लोग भाग लेते हैं.
  • इस उत्सव से सामुदाय में उत्साह और जोश का वातावरण बनता है.
  • पश्चिम बंगाल की विशेषता है कि यहां नवरात्रि देवी माता की गहरी भक्ति का प्रतीक है.
  • नवरात्रि के दौरान हर गली में माता की चौकी बनती है, जिससे लोग अपनी श्रद्धा व्यक्त करते हैं.
  • यह उत्सव समुदाय में भगवानी की पूजा और आराधना के साथ जुड़ा होता है.
  • संस्कृति और परंपरा के साथ, नवरात्रि के दौरान सामूहिक रूप से धर्मिक आदर होता है.
  • इस उत्सव से सामाजिक एकता और समरसता की भावना को बढ़ावा मिलता है.

2. Delhi (दिल्ली)

  • दिल्ली में नवरात्रि के दौरान विभिन्न स्थानों पर धूमधाम से उत्सव मनाया जाता है.
  • DDA ग्राउंड पीतमपुरा, रामलीला मैदान, सुभाष मैदान, और चितरंजन पार्क में रामलीला का आयोजन होता है.
  • इन जगहों पर भक्तों की भीड़ और उत्साह देखने को मिलता है.
  • भक्त भगवान राम और देवी सीता की कथा के प्रत्येक पल को भावुकता से सुनते हैं.
  • भारतीय संस्कृति की भक्ति और समृद्धि की भावना इन उत्सवों में प्रकट होती है.

इसे भी देखें :-DA Rates Table: आज हुई केंद्रीय कर्मचारियों के बल्ले बल्ले अब DA का नया चार्ट हुआ जारी, डीए दरें टेबल

3. Madhya Pradesh (मध्य प्रदेश)

  • Shardiya Navratri के दौरान मध्य प्रदेश के भोपाल और इंदौर में उत्सवों का आयोजन होता है।
  • यहाँ पर भक्तों द्वारा धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।
  • नवरात्रि के दौरान ग्राउंड पर विभिन्न रामलीला का भी आयोजन होता है।
  • इन मेलों में स्थानीय खाद्य-व्यंजनों का स्वादिष्ट प्रदर्शन होता है।
  • यहाँ पर परम्परागत गाने और नृत्यों का भी आयोजन किया जाता है।
  • नवरात्रि के दौरान शहर में धार्मिक और सांस्कृतिक साझेदारी का माहौल होता है।
  • यहाँ के मेलों में स्थानीय शिल्प-कला उत्पादों की भी बिक्री होती है।
  • इन कार्यक्रमों में लोग आकर्षित होते हैं और अपने परिवार के साथ मनोरंजन का आनंद लेते हैं।

4. South India ( साउथ इंडिया)

Navratri 2023: यदि आपको दक्षिण भारत की यात्रा पसंद है, तो आप कर्नाटक या मैसूर जा सकते हैं। यहाँ नवरात्रि के उत्सव का आनंद ले सकते हैं, जो बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। वहां आपको भारतीय संस्कृति का अद्भुत अनुभव मिल सकता है। यहां आपको स्थानीय भोजन का स्वाद भी मिल सकता है, जो आपकी यात्रा को और भी स्मरणीय बना सकता है।

5. Mysore (मैसूर)

  • मैसूर में दशहरा महोत्सव विशेष महत्व रखता है, जिसका नाम अपने इतिहास से जुड़ता है।
  • यहाँ की परंपरा में मैसूर को महिषासुर के नाम पर स्थापित किया गया है।
  • महिषासुर, जिनका वध मां दुर्गा ने किया, के नाम पर श्रेणीय उत्सव का आयोजन होता है।
  • हर साल, दशहरा के मौके पर मैसूर में शोभायात्रा आयोजित की जाती है।
  • इस महोत्सव में नाच-गाने और पर्वकारी गतिविधियों के साथ लोग खुशियों में भाग लेते हैं।

इसे भी देखें :-DA Rates Chart Table: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, यहाँ देखें नया DA चार्ट

6. Mangalaore (मंगलोर)

  • विदेशों में मंगलोर का दशहरा उत्सव विशेष लोकप्रियता प्राप्त है। वहां लोग नवरात्रि का जश्न मनाते हैं।
  • टाइगर डांस का आयोजन विशेष रूप से नवरात्रि के मौके पर किया जाता है। इसमें भाग लेने वाले लोग विवादित और भावुक होते हैं।
  • इस डांस की खासियत उसके रोमांचक और गतिशील तरीके में है। यह दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर देता है।
  • विदेशी यात्री भी इस विशेष आयोजन को देखने के लिए उत्सुक होते हैं। इससे स्थानीय संस्कृति का प्रतिनिधित्व होता है।
  • यहां की रंगबिरंगी और धारावाहिक परंपराओं को दर्शाने के लिए भी यह आयोजन महत्वपूर्ण है। यहां भारतीय सांस्कृतिक विरासत का प्रदर्शन होता है।

7. Madikeri (मदिकेरी)

Navratri 2023: मदिकेरी में दशहरा की तैयारी लगभग तीन महीने पहले शुरू हो जाती है, जिसमें समृद्ध संस्कृति का प्रदर्शन होता है। यहां दशहरा का पर्व उत्साह और हर्षोल्लास से भरपूर माहौल में मनाया जाता है, जिससे स्थानीय लोगों में उत्साह बढ़ता है।

हमारे ग्रुप से जुड़ेClick Here
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

8. Kullu (कुल्लू)

  • कुल्लू, हिमाचल प्रदेश की प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों और प्राकृतिक सौंदर्य से भरी खूबसूरत जगह है।
  • यहां दशहरा का उत्सव सात दिनों तक चलता है, जिसमें प्रस्तुतियों और परंपरागत नृत्य होते हैं।
  • स्थानीय लोग धार्मिक और सांस्कृतिक आयोजनों में भाग लेते हैं और इस अवसर का आनंद लेते हैं।
  • स्थानीय मेलों में रंगबिरंगे स्टॉल्स, खाने-पीने की व्यवसायिक गलियारे और संगीत प्रोग्राम होते हैं।
  • इस उत्सव के दौरान प्राचीन मंदिरों की यात्रा करके और प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लेने का अवसर मिलता है।
  • यहां की सुंदर पर्यटन स्थलों की शानदारी, पहाड़ों की खूबसूरती और उनकी उच्च चोटियों का दर्शन करने का भी अवसर होता है।
  • इस उत्सव का मुख्य आकर्षण परंपरागत नृत्य, स्थानीय खाद्य-सामग्रियों से बनी स्थानीय विशेषिताएं और समृद्ध संस्कृति है।

Disclaimer :- हम जानते हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ऐसी ख़बरें वायरल होती हैं, इसलिए हम सभी को सतर्क रहने की सलाह देते हैं ! हम चाहते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से जाँच करें और ख़बर की सटीकता को सुनिश्चित करें, क्योंकि यहाँ दी गई जानकारी के लिए “wdeeh.com” कोई ज़िम्मेदारी नहीं स्वीकार करता है !

x