Nimmi Waterfall: नवरात्री वीकेंड में घूमने के लिए मनमोहक है रामगढ़ जिले का सदाबहार जल प्रपात ‘निम्मी झरना’

Highlights

  • नवरात्री वीकेंड में घूमने के लिए मनमोहक है निम्मी जलप्रपात
  • पर्यटकों को झकझोरती हैं स्थानीय संस्कृति, खानपान, और त्यौहार  
  • लगभग 100 फीट की उंचाई से गिरता रहता है निरंतर झरना
  • प्राकृतिक सौंदर्यता, शांति और प्राचीन संस्कृति का संगम
  • पैदल चलने से प्राकृतिक सौंदर्य की अनुभूति

Nimmi Waterfall: रामगढ़ जिले में स्थित पतरातू घाटी और लेक झारखंड के प्रमुख पर्यटन स्थलों में गिने जाते हैं। इसके सुंदर पर्यावरण और शांत माहौल खास आकर्षण हैं। लोगों की रुचि को ध्यान में रखते हुए, पतरातू के पलानी झरने के आसपास पर्यटन क्षेत्र को और विकसित करने की योजना बनाई जा रही है। पतरातू प्रखंड में स्थित “निम्मी झरना”Nimmi Jharna भी अपने आकर्षण से परिचित है। इसकी सुंदरता और प्राकृतिक माहौल स्थानीय और बाहरी पर्यटकों को आकर्षित करती है। इसकी चारों ओर बसी हरियाली और फूलों की खुशबू यहाँ के माहौल को और भी आकर्षक बनाती हैं।

पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए बना रहा है प्रशासन नई पहचान

झारखण्ड, पतरातू झरने के साथ-साथ नवीनतम योजनाओं के माध्यम से पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए प्रशासन नई पहचान बना रहा है। यहाँ के स्थानीय संस्कृति, खानपान, और त्यौहार पर्यटकों को झकझोरती हैं और इसे एक पूर्ण अनुभव बनाती हैं। इसके साथ ही पर्यटकों को वहाँ की स्थानीय जीवनशैली को अनुभव करने का अवसर भी मिलता है। इस प्रकार, पतरातू घाटी और लेक के साथ-साथ Nimmi Waterfall भी झारखंड के पर्यटन का आकर्षण बन रहे हैं और इन्हें विकसित करने के लिए सरकार कदम उठा रही है।

Nimmi Waterfall -लगभग 100 फीट की उंचाई से निरंतर गिरता रहता है झरना

जिसकी खूबरसूरती और आसपास हरा-भरा माहौल बेहद सुहावना है। लगभग 100 फीट की उंचाई से झरना निरंतर गिरता रहता है। हरे-भरे पेड़ पौधों के बीच छोटे-बड़े चट्टानों होकर कलकल बहता साफ पानी बेहद मनमोहक प्रतीत होता है। नये साल में आसपास के क्षेत्र से लोग यहां पिकनिक का आनंद उठाने पहुंचते हैं। इस बार भी यहा अच्छी-खासी संख्या में लोगों के पहुंचने होने की उम्मीद है।

Nimmi Jharna,Waterfall -कहाँ स्थित है?

पटरातू प्रखंड में स्थित भुरकुंडा मतकमा चौक से 8 किलोमीटर दूर एक रोमांचक सफर पर निकलकर आप निम्नतरी झरने पहुंच सकते हैं। इस रास्ते पर आपको प्राकृतिक सुंदरता का आनंद भी मिलेगा। रामगढ़ जिले के मुख्यालय से भुरकुंडा मतकमा चौक की दूरी 26 किलोमीटर है, जो कि इस क्षेत्र की आर्थिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र है। यहाँ की भूगोल एवं ऐतिहासिक महत्वपूर्ण स्थलों की विविधता इसे और भी आकर्षक बनाती है। झारखंड की राजधानी रांची से भी भुरकुंडा मतकमा चौक की दूरी लगभग 35 किलोमीटर की है।

इसे भी देखें :-DA Rates Table: आज हुई केंद्रीय कर्मचारियों के बल्ले बल्ले अब DA का नया चार्ट हुआ जारी, डीए दरें टेबल

प्राकृतिक सौंदर्यता, शांति और प्राचीन संस्कृति का संगम

  • यह स्थान अपनी प्राकृतिक सौंदर्यता से चमकता है, जिससे इसकी खासियत बढ़ जाती है।
  • यहाँ की मानसिक शांति स्थान की महत्वपूर्ण गुणवत्ता में से एक है।
  • इस स्थान की प्राचीन संस्कृति से भरी हुई महत्वपूर्ण यादें हैं।
  • यहाँ के स्थानीय खाद्य में स्थानीय मिट्टी का उपयोग होता है, जिससे उनका स्वाद अद्भुत होता है।
  • स्थानीय शिल्प इस स्थान की सांस्कृतिक धरोहर को सजीव बनाता है।
  • यहाँ की सांस्कृतिक परंपराएँ यहाँ के इतिहास की महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

इस प्रकार, इस स्थान का समृद्ध ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत सबकी आकर्षण का केंद्र बनाता है।

Nimmi Jharna: कैसे पहुंचे झरना तक?

  • पैदल चलने से प्राकृतिक सौंदर्य की अनुभूति में अनोखी ख़ुशी होती है।
  • वाहनों के शोर से दूर, ट्रैक की शांति और संकल्प भरी ऊर्जा देती है।
  • इस मार्ग पर आने वाली चुनौतियों से भी इंजार का मजा आता है।
  • प्राकृतिक दृश्य नए जीवन की ताजगी और उत्साह का स्रोत बनते हैं।
  • खूबसूरत माहौल थकान भरी जिंदगी की भूलकर अद्भुत सुकून प्रदान करता है।
  • प्राकृतिक दुनिया में अद्भुत चीजों का आनंद लेना आत्मा को पुनः जीवंत करता है।
  • पर्यटन की भीड़-भाड़ से दूर इस शांत मार्ग पर सम्यक ध्यान में स्थिति का अनुभव होता है।
  • निम्मी झरने की शांति और तरलता अंतर्मन की शुद्धता को स्पर्श करती है।
  • यहां पहुंचकर आपको अपने आप से जुड़ने का अद्भुत मौका मिलता है।
  • इस अनूठे अनुभव में प्राकृतिकता की अद्भुत शक्ति को महसूस किया जा सकता है।

सांकी स्टेशन बनने से जगी उम्मीद

  • रांची-कोडरमा नई रेल लाइन आने से पर्यटकों के लिए एक नया सुखद अनुभव होगा।
  • सांकी स्टेशन के पास स्थित निम्मी झरना प्राकृतिक सौंदर्य का एक आकर्षण होगा।
  • सरकार और प्रशासन को पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इस रूट का प्रबंधन करना चाहिए।
  • यहां की प्राकृतिक सुंदरता को देखते हुए इसे संरक्षित रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है।
  • नई रेल लाइन से लोगों को स्थानीय संस्कृति और पर्यटन का अधिक संबंधित बनाने का माध्यम मिलेगा।
हमारे ग्रुप से जुड़ेClick Here
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

इस प्राकृतिक स्थल के पर्यटन का विकास लंबी अपेक्षा से होने की आशा है। यह स्थान वर्षों से पर्यटकों की भरमार का सामना कर रहा है। इसके विकास से यहां अनगिनत संभावनाएं उभर सकती हैं। सुगम यातायात की व्यवस्था और आवास सुविधाएं पर्यटकों के लिए महत्वपूर्ण हो सकती हैं। इन सुविधाओं के विकास से यहां के पर्यटन में बढ़ोतरी हो सकती है।

Disclaimer :- हम जानते हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ऐसी खबरें वायरल होती हैं। इसलिए हम सभी को सतर्क रहने की सलाह देते हैं ! हम चाहते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से जाँच करें। खबर की सटीकता को सुनिश्चित करें। क्योंकि यहां दी गई जानकारी के लिए “wdeeh.com” कोई ज़िम्मेदारी नहीं स्वीकार करता है !

x