BPSC Teacher Update: BPSC के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ा अपडेट, इन अभ्यर्थियों को अब नहीं देनी होगी सक्षमता परीक्षा

BPSC Teacher Update: BPSC पास नियुक्त शिक्षकों के लिए एक महत्वपूर्ण अपडेट सामने आया है। अब, जो भी शिक्षक अपनी पूर्व नौकरी स्थान पर बने रहना चाहते हैं, उन्हें सक्षमता परीक्षा देने की आवश्यकता नहीं होगी। शिक्षा विभाग ने इस पर सहमति दी है और इस नई नीति को लेकर विभागीय आदेश जल्द ही जारी करेगा। कहा जा रहा है कि आयोग द्वारा चयनित इस प्रकार के शिक्षकों की संख्या लगभग दस हजार है, जो अभी तक नियुक्ति पत्र नहीं लेकर बने हुए हैं।

BPSC Teacher Update: बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) के द्वारा चयनित शिक्षकों के लिए एक नई जानकारी सामने आई है। इन नियुक्त शिक्षकों को जो अपनी पूर्व नौकरी में ही बने रहना चाहते हैं, उन्हें सक्षमता परीक्षा से मुक्ति मिलेगी। इस मुद्दे पर शिक्षा विभाग ने सहमति दी है और इस संबंध में विभागीय आदेश जल्दी ही जारी किए जाएंगे।

गांठ बांध लें ये 5 Tips, सबसे सस्ती दर पर मिलेगा Personal Loan, चाहकर भी कोई बैंक नहीं कर पाएगा मना

PM Kisan Yojana 15th Installment: पीएम किसान योजना की 15वीं Installment हुई जारी,

लगभग 10,000 शिक्षक चयनित हैं: BPSC Teacher Update

  • सुना जा रहा है कि लगभग 10,000 शिक्षक चयनित हैं, लेकिन नियुक्ति पत्र नहीं लिया है।
  • इन शिक्षकों को लिखित परीक्षा से चयन किया गया है और उन्हें सक्षमता परीक्षा देने का निर्णय लिया गया है।
  • बिहार सरकार ने नियोजित शिक्षकों को सरकारी सुविधाओं के लिए सक्षमता परीक्षा लेने का निर्णय किया है।
  • ये शिक्षक लिखित परीक्षा में सफल होकर चयनित हो गए हैं लेकिन अभी तक नियुक्ति पत्र नहीं प्राप्त किया है।
  • बिहार लोक सेवा आयोग ने सरकारी शिक्षकों को सक्षमता परीक्षा के लिए अनुमति दी है।
  • सरकार ने इस निर्णय का लिया है ताकि चयनित शिक्षकों को सभी सुविधाएं प्राप्त हो सकें।
  • ये शिक्षक अब लिखित और सक्षमता परीक्षा के दोनों चरणों को पूरा करने के लिए तैयार होंगे।
  • नियोजित शिक्षकों को सक्षमता परीक्षा में सफलता के बाद उन्हें नियुक्ति पत्र प्रदान किया जाएगा।
  • यह निर्णय शिक्षा क्षेत्र में सुधार की दिशा में कदम उठाने का हिस्सा है।
  • सरकार ने यह सुनिश्चित करने के लिए किया है कि सभी शिक्षकों को उच्च स्तरीय सुविधाएं मिलें।

शिक्षा विभाग ने की तैयारी

इस परीक्षा का आयोजन बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा किया जाएगा। इसकी तैयारी में शिक्षा विभाग ने सक्रिय भूमिका निभाई है। इस प्रस्ताव के संबंध में कैबिनेट की मंजूरी जल्दी ही प्राप्त की जाएगी।

  • शिक्षा विभाग ने कहा है कि नियोजित शिक्षकों को सक्षमता परीक्षा पास करना होगा।
  • उन्हें विशिष्ट शिक्षक बनाया जाएगा।
  • इन शिक्षकों को अपने जिला संवर्ग में प्रमोट किया जाएगा, जो परीक्षा पास करेंगे।
  • शिक्षा विभाग ने इस सहमति पर काम करने का निर्णय किया है।
  • जिससे शिक्षकों को आत्म-मूल्यांकन की जरूरत नहीं होगी।
  • बिहार लोक सेवा आयोग से पास हुई परीक्षा देने की जरूरत नहीं होगी।
  • उन शिक्षकों को जो नौकरी स्थान पर रहना चाहते हैं।
  • इस निर्णय से शिक्षकों को यह सुनिश्चित है कि वे अपने क्षेत्र में ही कार्य कर सकें।
  • विशेष शिक्षक बनने के लिए सक्षमता परीक्षा की आवश्यकता को हटाने से उन्हें समय और उनके प्रयासों की बचत होगी।
  • इस निर्णय से शिक्षकों को अपनी क्षमताओं के आधार पर सीधे नौकरी में स्थान प्राप्त करने का सुयोग होगा।
  • यह निर्णय शिक्षा सेवा में सुधार के प्रति विश्वास को बढ़ावा देने का एक कदम है।
  • सक्षमता परीक्षा की अवधि को छोड़कर शिक्षकों को नौकरी स्थान पर ही बने रहने का विकल्प मिलेगा।
  • इस निर्णय से शिक्षा क्षेत्र में अधिक सुधार और स्थायिता की सुरक्षा होगी।
कल जारी होगी किसान सम्मान निधि योजना की 15वीं किस्त, ये किसान लाभ से हो जाएंगे वंचित

Salary Hike News: वेतन में ₹3000 की बढ़ोतरी, राज्य सरकार ने दिवाली पर कर्मचारियों को दी बड़ी सौगात

हमारे ग्रुप से जुड़ेClick Here
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

Disclaimer :- हम जानते हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ऐसी ख़बरें वायरल होती हैं, इसलिए हम सभी को सतर्क रहने की सलाह देते हैं ! हम चाहते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से जाँच करें और ख़बर की सटीकता को सुनिश्चित करें, क्योंकि यहाँ दी गई जानकारी के लिए “wdeeh.com” कोई ज़िम्मेदारी नहीं स्वीकार करता है !

x