UP Board Exam 2023: 24 घंटे स्ट्रांग रूम की होगी सुरक्षा, चार टीम गठित

जैसा कि हम जानते हैं उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू कर दी गई है। आपको बता दें कि परीक्षा को सफलतापूर्वक संचालित करने के लिए शिक्षा परिषद के द्वारा परीक्षा स्थल पर कड़ी निगरानी शुरू की गई है।

यूपी बोर्ड के द्वारा आयोजित कड़ी निगरानी में सीसीटीवी कैमरा के अलावा स्ट्रांग रूम की सुरक्षा रखी गई है जिसमें 4 टीम बनाई गई है।

हर साल यूपी बोर्ड में बड़े पैमाने पर पेपर लीक और चीटिंग की वारदात सामने आती थी जिसे कम करने के लिए इस साल यूपी सरकार ने काफी कड़ा बंदोबस्त किया है।

जिला के सभी मुख्य अधिकारियों को अलग-अलग परीक्षा स्थलों पर कड़ी निगरानी रखने को कहा गया है।

इसके अलावा शिक्षा परिषद के द्वारा विशेष टीम तैयार की गई है जिसके जरिए अलग-अलग समय पर छापेमारी की जा रही है।

अगर आप यूपी बोर्ड की परीक्षा से जुड़े हुए हैं और स्ट्रांग रूम के जरिए परीक्षा को किस प्रकार आयोजित किया जा रहा है इसके बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे लेख के साथ अंत तक बने रहे।

UP Board Exam 2023

इस समय भारत के अलग-अलग शिक्षा परिषद के द्वारा बोर्ड परीक्षा का आयोजन किया गया है। इसी प्रक्रिया में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा को भी शुरू किया गया है।

आपको पता होगा कि यूपी बोर्ड की परीक्षा 16 फरवरी से 3 मार्च तक चलने वाली है। इस बार 10वीं और 12वीं की परीक्षा एक साथ रखी गई है। परीक्षा को दो अलग-अलग शिफ्ट में आयोजित किया गया है,

जिसमें हाई स्कूल बोर्ड की अधिकांश परीक्षा सुबह वाले शिफ्ट में और इंटरमीडिएट बोर्ड की अधिकांश परीक्षा दोपहर वाले शिफ्ट में आयोजित की गई है।

यूपी बोर्ड की परीक्षा को सफलतापूर्वक आयोजित करने के लिए यूपी सरकार ने एसपी डीएसपी जैसे वरिष्ठ अधिकारियों को बोर्ड परीक्षा पर कड़ी निगरानी रखने को कहा है।

इस वजह से सभी परीक्षा स्थानों पर सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है और शिक्षा परिषद के द्वारा 500 शिक्षकों की एक टीम तैयार की गई है जो अचानक परीक्षा स्थलों पर छापामारी करने का काम करते हैं।

इससे यूपी बोर्ड की परीक्षा काफी सुरक्षित बनी है और बहुत सारे असामाजिक तत्वों को चीटिंग करते पकड़ा गया है।

24 घंटे स्ट्रांग रूम की सुरक्षा

पहले उत्तर प्रदेश में बोर्ड परीक्षा के क्वेश्चन पेपर को लीक कर लिया जाता था। बीते सालों से सबक लेकर परीक्षा स्थल को सुरक्षित बनाने और क्वेश्चन पेपर को सुरक्षित तरीके से रखने के लिए स्ट्रांग रूम का सुझाव प्रस्तुत किया गया है।

यह सीसीटीवी कैमरा से लैस एक ऐसा रूम है जिसमें क्वेश्चन पेपर को रखा जाएगा। हम सब जानते हैं कि परीक्षा से 1 दिन पहले परीक्षा स्थलों पर क्वेश्चन पेपर आ जाता है।

क्वेश्चन पेपर को सुरक्षित तरीके से रखना एक बड़ी चुनौती होती है। यूपी सरकार के द्वारा इस परीक्षा को बहुत सख्ती से लिया जा रहा है इस वजह से क्वेश्चन पेपर को सुरक्षित रखने के लिए स्ट्रांग रूम तैयार किया गया है।

इस स्ट्रांग रूम में आई सी सी टीवी कैमरा और रूम के चारों तरफ कड़ी निगरानी रखी जाएगी। इससे कोई भी विद्यार्थी क्वेश्चन पेपर लीक नहीं कर पाएगा।

ना केवल विद्यार्थी कोई शिक्षक भी परीक्षा से 1 मिनट पहले भी क्वेश्चन पेपर पता नहीं कर सकता है। इसके अलावा शिक्षा परिषद के द्वारा 500 शिक्षकों की एक बेहतरीन टीम तैयार की गई है।

जिसकी मदद से वह अलग अलग स्ट्रांग रूम पर रातों में छापामारी करने का कार्य कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा गठित टीम ने अब तक 800 से अधिक जगहों पर छापेमारी की है।

स्ट्रांग रूम में 24 घंटे क्वेश्चन पेपर को सुरक्षित तरीके से रखा जाएगा और इसका परिणाम दिख रहा है उत्तर प्रदेश में क्वेश्चन पेपर का लीक होना बिल्कुल खत्म हो चुका है।

इस साल की परीक्षा में बच्चों के बीच होने वाली चीटिंग का स्तर काफी घटा है और क्वेश्चन पेपर लीक बिल्कुल खत्म हो चुका है।

यह दिखाता है कि उत्तर प्रदेश सरकार कितनी सख्ती से इस पूरी प्रक्रिया का पालन कर रही है और अलग-अलग शिक्षक और उच्च अधिकारियों के द्वारा बोर्ड परीक्षा को कैसे सफलतापूर्वक आयोजित किया जा रहा है।

यूपी बोर्ड के द्वारा यहां तक सुनिश्चित कर दिया गया है कि विद्यार्थी एडमिट कार्ड और नीले रंग के पेन के अलावा कुछ भी अपने साथ एग्जाम में लेकर नहीं आ सकता है।

विद्यार्थियों के जूते पहनने पर भी रोक लगाया गया है और पुलिस अधिकारियों के द्वारा उनकी चेकिंग करवाई जा रही है।

परीक्षा सेंटर पर घुसने से पहले विद्यार्थी को अच्छे तरीके से चेक किया जाएगा और वह अपने साथ किसी भी तरह की जानकारी परीक्षा सेंटर पर लेकर नहीं जा सकता है।

इतना के बावजूद यूपी सरकार ने एक हेल्प लाइन नंबर अधिकारिक वेबसाइट पर जारी किया है और विद्यार्थियों से अनुरोध किया है कि अगर उन्हें कहीं भी असामाजिक गतिविधि होते नजर आए तो वह शिक्षा परिषद को इसकी जानकारी दे सकते हैं।

अगर किसी भी विद्यार्थी को परीक्षा सेंटर पर पेपर लीक चीटिंग जैसी हरकत की कंप्लेंट करनी हो तो वह यूपी बोर्ड के अधिकारी वेबसाइट पर मौजूद हेल्पलाइन नंबर का इस्तेमाल कर सकता है।

इस बार से यूपी बोर्ड की परीक्षा बहुत कड़ी निगरानी में ली जा रही है और यूपी बोर्ड स्ट्रांग रूम जैसी सुरक्षा से बोर्ड परीक्षा को सफलतापूर्वक आयोजित कर रहा है।

निष्कर्ष

आज इस लेख में हमने आपको बताया कि उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा बोर्ड परीक्षा को किस तरह आयोजित किया जा रहा है। हमने शिक्षा परिषद के द्वारा जारी किए गए नियम और स्ट्रांग रूम की जानकारी आपके साथ साझा की है।

उम्मीद करते हैं आप समझ पाए होंगे कि बोर्ड परीक्षा को कितने बेहतरीन तरीके से यूपी सरकार द्वारा आयोजित किया गया है और अगर आप यूपी बोर्ड परीक्षा से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी समझ पाए हैं तो इसे अपने मित्रों के साथ भी साझा करें।

x