CTET या स्टेट TET, जानें किस परीक्षा का सर्टिफिकेट है ज्यादा मान्य, मिलेगी सरकारी नौकरियां

CTET या स्टेट TET: यदि आप शिक्षकों के रूप में अपना करियर बनाना चाहते हैं और भ्रम में हैं कि कौन-सा विकल्प बेहतर है – सीटीईटी या राज्य टीईटी, तो हम आपकी इस समस्या को हल करने के लिए दोनों परीक्षाओं के बीच अंतर बताते हैं।

सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (CTET) और टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (TET) दोनों ही परीक्षाएं उन उम्मीदवारों की योग्यता का मूल्यांकन करती हैं जो प्राथमिक और उच्च-प्राथमिक स्तर पर पढ़ाने के लिए तैयारी कर रहे हैं। जो भी उम्मीदवार सरकारी स्कूलों में शिक्षक के पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें इन परीक्षाओं में से किसी एक में पास होना आवश्यक होता है। हालांकि, CTET और TET में थोड़ा-सा अंतर हो सकता है।

CTET या स्टेट TET के सर्टिफिकेट की तुलना

सर्वप्रथम, आपको यह बताना चाहिए कि जनाब, CTET परीक्षा का प्रमाणपत्र TET परीक्षा के प्रमाणपत्र की तुलना में अधिक मान्यता प्राप्त करता है। इसका मुख्य कारण है कि CTET 2023 एक केंद्रीय सरकार की परीक्षा होने के कारण इसका प्रमाणपत्र समस्त राज्यों में मान्य होता है। साथ ही, TET परीक्षा का प्रमाणपत्र केवल वही राज्यों में मान्य होता है जिनमें उसका आयोजन किया जाता है।

आज ख़ुशी से उछले सभी केंद्रीय कर्मचारी और पेंशनभोगी, DA और fitment Factor पर हुई बड़ी घोषणा

DA Rates Chart Table: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, यहाँ देखें नया DA चार्ट

सीबीएसई से एफिलिएटेड स्कूल में पढ़ाने में रुचि रखता है

  • यदि किसी उम्मीदवार को सरकारी स्कूलों में पढ़ाने का शौक हो, तो उन्हें CTET की परीक्षा देनी चाहिए।
  • इससे उन्हें केंद्र सरकारी स्कूलों और सीबीएसई स्कूलों में नौकरी मिल सकती है।
  • साथ ही, यदि किसी को किसी राज्य के सरकारी स्कूल में पढ़ाने की इच्छा है,
  • तो उसे उस राज्य के लिए TET परीक्षा देनी चाहिए।
  • इससे वह उस राज्य की सरकारी स्कूलों में नौकरी प्राप्त कर सकता है।
  • वहाँ की शिक्षा प्रणाली को समझ सकता है।

MP Assembly Election 2023, Liquor shops will remain closed: यूपी के इन जिलों में 2 दिन बंद रहेंगी शराब की दुकानें सरकार ने किया नोटिफिकेशन जारी

World Cup 2023 के सिर्फ 3 मैच खेलकर सर्वाधिक विकेट लेने वाले लिस्ट में छठे नंबर पर पहुंचे शमी, देखिए टॉप-5 की लिस्ट

CTET परीक्षा

  • सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (CTET) एक भारतीय राष्ट्रीय स्तरीय परीक्षा है।
  • इस परीक्षा का आयोजन सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) द्वारा होता है।
  • यह परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है जो कि जुलाई और जनवरी में होती है।
  • CTET जनवरी 2024 सत्र के लिए आवेदन की प्रक्रिया वर्तमान में चल रही है।
  • उम्मीदवारों को ऑनलाइन आवेदन करने के लिए ctet.nic.in पर जाना होगा।

UPMSP UP Board Exam 2024: अब यूपी बोर्ड 10वीं 12वीं प्रैक्टिकल की परीक्षा 21 जनवरी से होंगी इसी महीने शुरू हो सकती हैं थ्योरी परीक्षाएं

DA Hike News: अब कर्मचारियों-पेंशनरों के लिए अच्छी खबर! 2024 में फिर इतने प्रतिशत बढ़ सकता है महंगाई भत्ता, AICPI इंडेक्स के नए नंबर जारी

स्टेट TET परीक्षा

  • टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (TET) एक राज्य स्तरीय परीक्षा है जो सीटीईटी के समान होती है।
  • यह परीक्षा उम्मीदवार को टीचर के पद के लिए योग्य बनाती है।
  • इसमें उम्मीदवारों को राज्य सरकारों द्वारा संचालित स्कूलों में पढ़ाने का अधिकार होता है।
  • यह परीक्षा विभिन्न राज्यों में जैसे UPTET, MAHA TET, REET, बिहार STET, PSTET, MP TET, KTET, TNTET आदि आयोजित की जाती है।
  • हालांकि, इन परीक्षाओं में सफलता के बाद KVS और NVS जैसे केंद्रीय विद्यालयों में नौकरियों के लिए आवेदन नहीं किया जा सकता है।

CTET या स्टेट TET के लिए शैक्षणिक योग्यता

  • एक प्रमुख अंतर CTET और TET में यह है कि CTET राष्ट्रीय स्तरीय परीक्षा है।
  • TET प्रादेशिक स्तरीय परीक्षा होती है जो राज्य सरकार द्वारा आयोजित की जाती है।
  • यदि किसी व्यक्ति का CTET सर्टिफिकेट है, तो वह देशभर में किसी भी सरकारी स्कूल में टीचर बन सकता है।
  • TET सर्टिफिकेट केवल वही राज्य में टीचर की नौकरी के लिए मान्य होता है जहां उसने परीक्षा दी है।
  • CTET और TET दोनों में शिक्षा संकायों और प्रश्नों की भिन्नता होती है जो उम्मीदवारों को ध्यान में रखनी चाहिए।
हमारे ग्रुप से जुड़ेClick Here
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

CTET के बारे में जानते हैं

  • CTET की आयोजन वार्षिक रूप से CBSE द्वारा दो बार किया जाता है।
  • CTET और TET में आवेदन की तिथि और परीक्षा की तिथि अलग-अलग होती हैं।
  • CTET परीक्षा के लिए कोई ऊपरी आयु सीमा नहीं होती है।
  • विभिन्न राज्यों में TET की आयु सीमा विभिन्न होती है और यह एक या दो बार होती है।
  • CTET परीक्षा में उम्मीदवारों को परीक्षा की भाषा चुनने का विकल्प मिलता है।
  • TET परीक्षा में उम्मीदवारों को मूल भाषा में ही परीक्षा देनी होती है।
  • NCTE ने CTET और TET सर्टिफिकेट की वैधता को जीवन भर के लिए मान्यता दी है।
  • दोनों परीक्षाओं के लिए उम्मीदवारों को ग्रेजुएशन और B.Ed या D.El.Ed की डिग्री होनी चाहिए।

Disclaimer :- हम जानते हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ऐसी ख़बरें वायरल होती हैं, इसलिए हम सभी को सतर्क रहने की सलाह देते हैं ! हम चाहते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से जाँच करें और ख़बर की सटीकता को सुनिश्चित करें, क्योंकि यहाँ दी गई जानकारी के लिए “wdeeh.com” कोई ज़िम्मेदारी नहीं स्वीकार करता है !

x