Uttarkashi Tunnel Rescue: 40 मजदूरों को बाहर निकालने की जद्दोजहद लगातार छठे दिन जारी, जानिए कहां तक बनी टनल

Uttarkashi Tunnel Rescue: सिलक्याला सुरंग हादसे में फंसे 40 श्रमिकों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। 6 दिनों से एस्केप टनल बना रहा है। जिससे श्रमिकों को निकाला जा सकेगा। उत्तरकाशी में फंसे लोगों को निकालने के लिए अनुप्रयास जारी है। 

भूतल परिवहन राज्यमंत्री ने सिलक्यारा पहुंचकर राहत कार्य का निरीक्षण किया। एस्केप टनल की लंबाई 21 मीटर है और यह श्रमिकों को निकालने के लिए तैयार है। सुरंग हादसे में फंसे लोगों की सुरक्षा के लिए सरकार ने कई कदम उठाए हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन से पहले सुरंग में अच्छी तय की गई रणनीति पर ध्यान दिया जा रहा है। सिलक्यारा में फंसे लोगों के परिवारों को समर्थन प्रदान किया जा रहा है। श्रमिकों की सुरक्षा और उनके शीघ्र निकास के लिए सभी संभावनाओं का ख्याल रखा जा रहा है। सुरंग हादसे में फंसे लोगों की मदद के लिए स्थानीय प्रशासन भी सक्रियता दिखा रहा है।

Uttarkashi Tunnel Rescue

उत्तरकाशी। सुरंग हादसे में फंसे 40 श्रमिकों का रेस्क्यू ऑपरेशन छह दिनों से जारी है। सिलक्याला सुरंग में फंसे श्रमिकों को बचाने के लिए एस्केप टनल बना गया है। टनल निर्माण में बोल्डर या मेटल की रुकावटें आईं, जिन्हें ड्रिल करके दूर किया गया। एस्केप टनल की लंबाई 21 मीटर है और श्रमिकों को निकालने के लिए तैयार है। टनल बनाने में भूस्खलन क्षेत्र में मलबे के बीच 60 मीटर लंबी निकासी होगी। बोल्डर और मेटल को दूर करने के बाद, निर्माण कार्य तेजी से प्रगट हो रहा है। रेस्क्यू ऑपरेशन में सफलता के लिए सभी संभावनाओं पर ध्यान दिया जा रहा है। श्रमिकों को सुरंग से बाहर निकालने की तैयारियाँ अब अंतिम चरण में हैं। टनल निर्माण में अब कोई रुकावट नहीं है, और कार्य में तेजी है। इस मुश्किल समय में सभी रेस्क्यू टीमें को सलामी दी जा रही है जो प्रशिक्षण दे रही हैं।

Kisan Karj Mafi List: अब सभी किसानो का पूरा कर्ज हुआ माफ़! यहाँ से नई लिस्ट चेक करें

BPSC के नियोजित शिक्षकों के लिए बड़ा अपडेट, इन अभ्यर्थियों को अब नहीं देनी होगी सक्षमता परीक्षा

सीएम और वीके सिंह ने लिया जायजा

  • जनरल वीके सिंह ने सिलक्यारा में राहत और बचाव कार्यों का निरीक्षण किया।
  • पुष्कर सिंह धामी ने बचाव कार्यों की निगरानी की और अधिकारियों से अपडेट ली।
  • वीके सिंह ने शुक्रवार को सुरंग में फंसे श्रमिकों के बाहर निकाले जाने की उम्मीद जताई।
  • उन्होंने सुरंग में फंसे श्रमिकों के सकुशल होने की पूजा-अर्चना की।
  • श्रमिकों को बाहर निकालने के लिए रात तक कठिन प्रयास किए गए।
  • गुरुवार को सिलक्यारा में राहत कार्यों की निगरानी की गई।
  • पुष्कर सिंह धामी ने बचाव कार्यों का संप्रेषण किया और उन्हें स्थिति की समीक्षा की।
  • सुरंग में फंसे श्रमिकों को बचाने के लिए सकुशल प्रयास किए जा रहे हैं।
  • जनरल वीके सिंह ने सुरंग में फंसे लोगों के सुरक्षित बाहर निकालने का संदेश दिया।
  • राज्यमंत्री ने भगवान से श्रमिकों के सुरक्षित होने की कामना की।

कल जारी होगी किसान सम्मान निधि योजना की 15वीं किस्त, ये किसान लाभ से हो जाएंगे वंचित

Salary Hike News: वेतन में ₹3000 की बढ़ोतरी, राज्य सरकार ने दिवाली पर कर्मचारियों को दी बड़ी सौगात

Uttarkashi Tunnel Rescue -अभी लग सकता है इतना समय

  • सुरंग में फंसे 40 श्रमिकों को बाहर निकालने के लिए 30-35 घंटे और 110 घंटे से भी अधिक समय लग सकता है।
  • उत्तरकाशी में आपदा प्रबंधन अधिकारी ने बताया कि ड्रिलिंग और पाइप जोड़ने में काम जारी है।
  • डेढ़ घंटे में मलबे में ड्रिल करने और 6 मीटर पाइप को धकेलने में समय लग रहा है।
  • एक पाइप को दूसरे से जोड़ने में दो घंटे का समय लग रहा है।
  • मशीन को बीच-बीच में विश्राम भी दिया जा रहा है।
  • जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी के अनुसार, काम की गति बढ़ने की उम्मीद है।
  • राहत व बचाव टीम के विशेषज्ञों के मुताबिक, निकासी सुरंग बनाने में 60 मीटर लंबाई का समय लग सकता है।
  • शुक्रवार रात तक फंसे श्रमिकों तक पहुंचने की उम्मीद है।
  • बचाव टीम का कहना है कि काम तेज होने के साथ-साथ चुनौतियों का सामना किया जा रहा है।
  • सुरंग में फंसे लोगों को निकालने के लिए प्रयास जारी है, लेकिन समय की चुनौती है।

गांठ बांध लें ये 5 Tips, सबसे सस्ती दर पर मिलेगा Personal Loan, चाहकर भी कोई बैंक नहीं कर पाएगा मना

PM Kisan Yojana 15th Installment: पीएम किसान योजना की 15वीं Installment हुई जारी

बिजली-पानी की पर्याप्त व्यवस्था

  • उत्तरकाशी जिलाधिकारी अभिषेक रूहेला ने बताया कि सुरंग में फंसे श्रमिकों को ऑक्सीजन और खाद्य आपूर्ति हो रही है।
  • सुरंग में बिजली और पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था है, श्रमिकों को आवश्यकतानुसार दवा भेजी जा रही है।
  • उनके अनुसार, सभी श्रमिक सुरक्षित हैं, और सहायता लाभ पहुंचा रही है।
  • जिलाधिकारी रूहेला ने बताया कि सुरंग में दुर्घटना के बावजूद सब कुशलमंगल हैं।
  • श्रमिकों को पूर्ण रूप से देखभाल की जा रही है, जिला प्रशासन उनके सुरक्षा को प्राथमिकता दे रहा है।
  • फिलहाल, उत्तरकाशी में सभी आवश्यक सामग्री की आपूर्ति जारी है, ताकि श्रमिकों को कोई कमी न हो।
हमारे ग्रुप से जुड़ेClick Here
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

Disclaimer :- हम जानते हैं कि सोशल मीडिया पर बहुत सी ऐसी ख़बरें वायरल होती हैं, इसलिए हम सभी को सतर्क रहने की सलाह देते हैं ! हम चाहते हैं कि आप आधिकारिक स्रोतों से जाँच करें और ख़बर की सटीकता को सुनिश्चित करें, क्योंकि यहाँ दी गई जानकारी के लिए “wdeeh.com” कोई ज़िम्मेदारी नहीं स्वीकार करता है !

x